wildlife जंगल में सुरक्षित जीवन यापन कैसे करें।

wildlife wild animal


यदि आपको जंगल में रहने का शौक है तो आपको जंगल में रहने के तरीके भी पता होने चाहिए तभी आप जंगल में सुरक्षित रह पाएंगे।

खाने की चीजों को पका कर कर खाएं।


यदि आपको जंगल में कोई भी खाने की चीज मिले तो आप इसे सीधे नहीं खाना चाहिए। खाने की चीजों को हमेशा आग पर पकाकर ही खाना चाहिए। क्योंकि खाने पीने की चीजों को आग पर पकाने से उन में स्थित बैक्टीरिया मर जाते हैं। जिससे कि हमारे बीमार होने का खतरा नहीं बना रहता है पता हम सुरक्षित रहते हैं।

पीने के पानी को उबालना चाहिए।


यदि आप ऐसी जगहों पर है तो आपको पीने वाले पानी को बहुत सावधानी से पीना चाहिए। क्योंकि ऐसे पानी में बहुत सारे बैक्टीरिया तथा परजीवी भी होते हैं। जिससे कि हम बीमार हो सकते हैं। हमें डायरिया तथा हैज़ा भी हो सकता है।

यदि हमें पानी को पीना है तो पानी को सबसे पहले उबाल लेना चाहिए। यदि पानी किसी नदी या झरना से आ रहा हो तो ध्यान रखें कि जहां की धारा सबसे तेज हो वह पानी सबसे शुद्ध होता है।

इसके साथ ही ध्यान रखना चाहिए कि स्थिर पानी को कभी नहीं पीना चाहिए। क्योंकि जो पानी एक जगह तेरा होता है उनमें बैक्टीरिया तथा जीवाणु होते हैं जो कि हमें बीमार कर देते हैं।

रहने के लिए निवास स्थान बनाएं।


ऐसी जगहों पर रहने के लिए आप की पहली जरूरत होती है आपके रहने के लिए छत का का होना। छत के साथ-साथ आपके पास आग होना भी उतना ही जरूरी होता है। आग से जंगली जानवरों का खतरा भी दूर हो जाता है। जंगली जानवर आग से डरते हैं।


अपना निवास स्थान बनाने के लिए ऐसी जगह को चुने जो जगह जमीन से ऊपर होती है क्योंकि जमीन पर रेंगने वाले जानवर जैसे कि सांप आदि का खतरा बना रहता है।

रात में मच्छर से कैसे बचा जाए।


यदि आप जंगल या बहुत ज्यादा पेड़ पौधे वाले इलाकों वाले इलाकों पौधे वाले इलाकों वाले इलाकों में होते हैं तो वहां पर मच्छर बहुत ज्यादा होते हैं बहुत ज्यादा मच्छर काटने से हमें मलेरिया हो भी सकता है सकता है

इसलिए मच्छरों से बचने के लिए आग का सहारा लेना चाहिए सहारा लेना चाहिए या फिर पेड़ों की हरी पत्तियां आग में डालकर के धुआं कर लीजिए। जिससे कि मच्छर आपको परेशान नहीं करें।

जंगल में चमगादड़ से कैसे बचा जाए कैसे बचा जाए से कैसे बचा जाए कैसे बचा जाए –


यदि आपको रात जंगल में बितानी पड़ी तो आप कोशिश करें कि ऐसी जगहों पर अपना निवास स्थान बनाए जहां पर चमगादड़ नहीं होती। चमगादड़ ज्यादातर गुफाओं में रहते हैं तो ऐसी जगहों पर आप अपना निवास स्थान नहीं बनाए।

इसके साथ ही चमगादड़ रात को बाहर भी निकलते हैं। इनसे बचने के लिए आपको अपने सिर पर कोई कपड़ा बांध लेना चाहिए। यदि आपके पास कपड़ा नहीं है तो किसी भी बड़े पेड़ की पत्तियों को भी आप बांध सकते हैं।

क्योंकि चमगादड़ जब भी आप को काटता है तब आपको पता भी नहीं चलता कि चमगादड़ ने आपको कब काटा है तथा आपका खून भी बहता रहता है। जिससे कि आप की मौत भी हो सकती है।

इसके साथ ही चमगादड़ जहां भी काटता है वहां पर अपने शरीर में एक टॉक्सिक एलिमेंट छोड़ देता है। जिससे कि खून का थक्का नहीं बनता है तथा खून लगातार बहता रहता रहता है।

जंगल में रात की सर्दी से कैसे बचा जाए


जैसे-जैसे रात बढ़ती जाती है। जंगल में वैसे वैसे ठंड भी बढ़ने लगती है। जिसके कारण हम नींद भी नहीं ले पाते हैं। इसके साथ ही जंगली जानवरों का भी खतरा बना रहता है।

इन सब से यदि आप को सुरक्षित बाहर निकलना है तो आपको आग का सहारा लेना चाहिए और आपको जंगली जानवरों तथा सर्दियों से तथा मच्छरों से से भी बचाए रखेगी।