सिर में कीड़े का इलाज। दिमाग में कीड़े का लक्षण । दिमाग में कीड़े की पहचान ।
सिर में कीड़े का इलाज। दिमाग में कीड़े का लक्षण । दिमाग में कीड़े की पहचान ।

सिर में कीड़े का इलाज। सिर में कीड़े से बचाव । sir me kide hone ke lakshan.

आज हम सिर में कीड़े का इलाज के बारे में जानेंगे और यह भी जानेंगे कि दिमाग में कीड़ा होता है । उसके इलाज और बचाव के उपाय । सिर में कीड़े का इलाज। दिमाग में कीड़े का लक्षण । दिमाग में कीड़े की पहचान ।

इस बीमारी को अंग्रेजी में Neurocysticercosis कहते हैं । यानी कि दिमाग का कीड़ा ।

Neurocysticercosis खून के माध्यम से दिमाग में पहुंच जाता है । यह कीड़ा हमारे शरीर में होता है । अमूमन लोगों के शरीर में यह कीड़ा पाया जाता है ।

इस कीड़े के अपशिष्ट पदार्थ बंद गोभी में सबसे अधिक पाए जाते हैं और बंद गोभी के माध्यम से ही यह कीड़ा लगभग हमारे शरीर में आने की संभावना बनी रहती है ।

सिरप पत्ता गोभी से ही यह कीड़ा हमारे शरीर में नहीं जाता है । वह सभी सब्जियां जो कि हम बिना धोए या फिर साफ किए इस्तेमाल करते हैं । उनसे भी यह कीड़ा हमारे शरीर में जाने की संभावनाएं बनी रहती है ।

यह कीड़ा एक दूसरे के संपर्क में आने से तथा छूने से भी फैलता है यानी कि यह हर तरीके से खेलने में सक्षम होता है और इसी तरीकों के माध्यम से यह हमारे शरीर में पहुंच जाता है ।

Neurocysticercosis कीड़ों के अंडे हमारे शरीर में जाने के कारण भी हो सकता है । यह अंडे फिर हमारे खून के साथ दिमाग में चले जाते हैं ।

जब यह कीड़ा शरीर में जाता है तो 2 तरीके से शरीर पर प्रभाव डालता है । पहला तो यह आंतो में जाकर के गुच्छा बना लेता है ।

जिसकी वजह से हमारे पेट में दर्द रहता है । हमें उल्टी की शिकायत रहती है । कभी कबार तो यह हमारे आंतो में रुकावट भी पैदा कर देते हैं ।

दूसरे तरीके से यह हमारे शरीर के ब्लड के साथ में घुल मिल जाते हैं और ब्लड के साथ दिमाग में चले जाते हैं । दिमाग में यह कीड़ा Cyst के रूप में पाया जाता है ।

दिमाग में कीड़े का लक्षण । दिमाग में कीड़े की पहचान ।

यदि किसी के दिमाग में कीड़ा है तो उसकी पहचान कैसे करें । इसकी पहचान मरीज को देखकर ही की जा सकती है ।

यदि मरीज को मिर्गी के दौरे पड़ते हैं या सिर में दर्द रहता है या फिर मरीज को कोई दिमाग से संबंधित समस्या होती है तो दिमाग में कीड़ा होने की संभावना हो सकती है ।

मरीज के सर में 24 घंटे सर दर्द रह सकता है सिर में उलझन बनी रहती है । यह प्रक्रिया काफी लंबे समय तक चलती है तो भी दिमाग में कीड़ा हो सकता है ।

यदि मरीज की याददाश्त भी लगातार कमजोर होती जा रही है या फिर उसे दिमाग में अजीब सा ही रहता है तो भी दिमाग में कीड़ा हो सकता है ।

सिर में कीड़े से बचाव । सिर में कीड़े का इलाज।

यदि आप अपने सिर में कीड़े से बचाव चाहते हो तो आपको हमेशा शुद्ध तथा स्वच्छ जल ही पीना चाहिए ।

पानी को उबालकर के छानकर के स्वच्छ करके ही पीना चाहिए । क्योंकि यह कीड़ा पानी से भी फैलता है।

खाना खाने से पहले तथा खाना खाने के बाद में हाथों को अच्छी तरह से धोना चाहिए । यह कीड़ा हाथो के माध्यम से भी शरीर में जा सकता है ।

फैमिली के प्रत्येक सदस्य को 6 महीने में एक बार एल्बेंडाजोल टेबलेट जरूर लेनी चाहिए । यह गोली पेट के कीड़ों को पैरालाइज कर देती है ।

यह दवा 2 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए 200 मिलीग्राम होती है और 2 साल से ऊपर के बच्चों के लिए 400 मिलीग्राम होती है ।

हिमालय के आसपास के क्षेत्रों में यह बीमारी काफी ज्यादा पाई जाती है । इसलिए हिमालय के आसपास के क्षेत्र में रहने वाले लोगों को तीन-तीन महीने में यह टेबलेट एक बार खा लेना चाहिए ।

यदि किसी के पेट में कीड़ा होने के बाद पता चल जाए तो सबसे पहले तो एल्बेंडाजोल लेनी है । उसके बाद मैं आपको सुबह शाम मेबेंडाजोले सौ ग्राम वाली गोली 3 दिन तक लेनी है ।

सिर में कीड़े का इलाज – sir me kide hone ke lakshan

यदि सीटी स्कैन या फिर अन्य तरीके से यह प्रूफ हो जाता है कि हमारे दिमाग में कीड़ा है तब भी आपको एल्बेंडाजोल गोली का ही प्रयोग डॉक्टर करने के लिए कहता है लेकिन इस गोली का प्रयोग आपको लगातार लंबे समय तक करना होगा तभी वह कीड़ा मारेगा ।

brain worm treatment in hindi. sir me kide hone ke lakshan.