अमेरिकी मगरमच्छ के बारे में रोचक तथ्य और जानकारी

अमेरिकी मगरमच्छ के बारे में रोचक तथ्य और जानकारी ।

अमेरिकी एलीगेटर के बारे में रोचक तथ्य और जानकारी ।

अमेरिकी मगरमच्छ के बारे में रोचक तथ्य और जानकारी

amerikee magaramachchh ke baare mein rochak tathy aur jaanakaaree अमेरिकी मगरमच्छ के बारे में रोचक तथ्य और जानकारी । अमेरिकी एलीगेटर के बारे में रोचक तथ्य और जानकारी। आज के इस टॉपिक में हम बात करेंगे दुनिया के सबसे खतरनाक छुपकर शिकार करने वाले जानवरों के बारे में ।

यह शिकारी घात लगाते हैं । यह अपने माहौल में घुल मिल जाते हैं । या फिर जाल बिछाने की सटीक जगह ढूंढते हैं । इन्होंने धीरे से शिकार करने की कला सीख ली है ।

हम शुरू करेंगे अमेरिकी एलीगेटर से । एक सच्चा सर्वाइवल जो कि डायनासोर पर भी धूल डाल देता है और फिर चलेंगे ताकतवर पाइथन के पास । दम घोंट देने वाला शिकारी जो कि पेड़ों पर रहने और जमीन पर रेंगने और पानी में तैरने के लिए बना है ।

सबसे आखिर में चलेंगे पानी में रहने वाली, जैसे दिखने वाली , दुनिया के बाद बेहद खौफनाक दिखने वाली मोरे ईल से मिलेंगे । वैसे इस प्रजाति के जीव दूसरी प्रजाति के लगते हैं । इन तीनों जिवों ने ऐसी खास स्किल विकसित की है । जिनकी वजह से इनके शिकार के तरीकों ने इन्हें जिंदा तथा आबाद रखा है ।

यह जानवर डायनासोर से पहले के समय का है और आज भी कामयाब है । हमारा पहला शिकारी ठंडे खून वाला है । यह अपने बच्चों को बचाने के लिए कुछ भी कर सकता है । वैसे तो यह रेप्टाइल मौकापरस्त है जो सामने आने वाली कोई भी चीज खा लेगा । लेकिन यह कई महीनों तक बिना खाए रह सकता है ।

हालांकि यह खूंखार जानवर जो की ठंडे खून वाला है इसे 1भी दिन भूखा रहने की जरूरत नहीं है । इसमें बहुत सब्र है । यह अपने शिकार का पीछा करता है । वैसे अक्सर इसे धीमा समझा जाता है । पर ऐसा बिल्कुल नहीं है ।

यह रेप्टाइल जमीन और पानी दोनों में तेज होता है । यह है अमेरिकन एलीगेटर । यह दुनिया की सबसे लंबे समय से जी रही प्रजाति है । वैज्ञानिक मानते हैं कि एलीगेटर प्रजाति की उम्र लगभग 15 करोड़ पूर्व है । यानी कि एलीगेटर ने डायनासोर के 6.30 करोड़ साल पहले लुप्त हुए समय को भी पार कर लिया है ।

एलीगेटर को देखने पर डायनासोर के प्राचीन डिजाइन नजर आते हैं । मस्कुलर शरीर , लंबे बड़े जबड़े और खौफनाक दांत । एलीगेटर एक विशाल शिकारी है जो कि बेहद ही खतरनाक है ।

एक व्यस्क एलीगेटर लंबाई में 15 फुट से भी अधिक लंबा हो सकता है । वजन के मामले में एक व्यस्क एलीगेटर का वजन 450 किलो तक हो सकता है । एलीगेटर पूरी जिंदगी बढ़ते ही रहते हैं और इनके दांत भी बढ़ते रहते हैं ।

आमतौर पर एलीगेटर के मुंह में करीब 80 दांत हो सकते हैं । एलीगेटर के बाइट की ताकत इतनी जबरदस्त होती है कि काटने में अक्सर इनके दांत भी टूट जाते हैं । जिसकी एलीगेटर को कोई भी परवाह नहीं । क्योंकि यह टूटे दांत फिर से उग आएंगे ।

एक आम एलीगेटर पूरी जिंदगी में दो से तीन हजार दांत उगाता है और इतने दांत होने के बाद भी एलीगेटर अपने शिकार को चबाता नहीं है । बल्कि पूरा का पूरा उसे ऐसे ही निकल जाता है ।

यह अपने दांतो का इस्तेमाल शिकार को दबोचने में तथा उसे पकड़ने में करता है । एलीगेटर के जबड़े जब बंद होते हैं तब यह 1360 किलो पर स्क्वायर इंच की ताकत पैदा करते हैं । यानी कि 13350 न्यूटन ।

इसके मुकाबले शेर तथा बाघ का फोर्स 450 के करीब होता है । यानी कि 4450 न्यूटन । अमेरिकन एलीगेटर की बाइट बहुत ताकतवर होती है । क्योंकि इसके मुंह को और भी खतरनाक बनाता है ,एलीगेटर के हिट रिलीज करने का अनोखा तरीका ।

क्योंकि यह cold-blooded है । इसलिए एलीगेटर पसीना बहा करके अपने शरीर का तापमान नहीं बनाए रख सकते हैं । cold-blooded प्रजाति होने के कारण एलीगेटर का ठंडे मौसम में गर्म होना मुश्किल हो जाता है ।

ठंडे पानी के कारण एलीगेटर का मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाता है और वह सुस्त पड़ जाते हैं । इस हाइबरनेशन के दौरान एलीगेटर नदी के किनारे पर सुरंगे तथा गड्ढे खोदेते हैं ।

एलीगेटर मौकापरस्त होते हैं । इनके शिकंजे में जो भी आ जाता है उन्हें खा लेते हैं । अपने शिकार को पकड़ने के लिए जो भी तकनीक सही लगे उनका इस्तेमाल करते हैं ।

मछली , कीड़े , वर्टेब्रेट , सांप , टर्टल ,पक्षी ,छोटे मेमल बल्कि हिरण तक को यह नहीं छोड़ते हैं । अगर किसी को नहीं खाते हैं तो वह है इंसान । 1973 से स्टेट ऑफ फ्लोरिडा में एलीगेटर से मौत के सिर्फ 23 मामले सामने आए हैं ।

इंसान तो एलीगेटर के मैन्यू में सबसे ऊपर नहीं आते हैं पर पानी में रहने वाले सभी जानवर इन्हें बहुत पसंद होते हैं । वैज्ञानिकों का मानना है कि पानी के भीतर शिकार करना जमीन पर आकर के शिकार करना इतना बेहतर इसलिए है ।

क्योंकि एलीगेटर की नाक पर मौजूद सेंसरी ऑर्गन पानी के अंदर भी वाइब्रेशन को भांप लेते हैं । जिनसे कि इनको शिकार के दौरान और भी फायदा होता है ।

एलीगेटर पानी के नीचे 2 घंटों तक शांति से बैठकर अपने शिकार के आने का इंतजार कर सकता है । एलीगेटर को शिकार के मामले में हथियार का इस्तेमाल करते हुए भी देखा गया है ।

एलीगेटर अपनी पीठ तथा गर्दन पर लकड़िया रख सकता है तथा बिना हिले दुले बैठा रहता है । ताकि घोसले की तलाश में निकला पक्षी इसके पास आ जाए

इनका यह बरताव उस समय देखने को मिलता है जब पक्षी अपना घोंसला बना रहे होते हैं । यह एलीगेटर की सुझ बुझ तथा उसके बेहतरीन सरवाईवल स्किल का दूसरा उदाहरण है ।

धीमे हो या फिर तेज । प्राचीन एलीगेटर शिकार को दबोच ले तो वह बच नहीं सकता । इनके पास ढेर सारी चाल है तथा किलर स्टिंग है । जिससे कि अमेरिकी एलीगेटर इस इलाके का राजा बन बैठा है ।