कुत्ते पानी के नीचे किसी भी वस्तु का पता कैसे लगाते हैं |

कुत्ते पानी के नीचे किसी भी वस्तु का पता कैसे लगाते हैं |

कुत्ते एक दूसरे का पिछवाड़ा क्यों सूंघते हैं।

कुत्ते सिर्फ पालतू जानवर ही नहीं होते हैं | वह एक महान हीरो होते हैं | यह , वह काम कर सकते हैं जो इंसान नहीं कर सकते हैं | इसलिए कुत्तों को कभी कम नहीं समझना चाहिए |

झील हो या समुंदर | कुत्ते कैसे ढूंढ लेते हैं पानी के अंदर ||

अमेरिका के घरों में लगभग 8 करोड कुत्ते हैं | बुलडॉग की एक सुपर पावर है | वह है , उसकी नाक | उनके सूंघने की शक्ति इंसान के मुकाबले लाख गुना ज्यादा है | यह इतनी पावरफुल होती है कि 3 किलोमीटर दूर किसी भी चिकन की गंध का पता लगा लेते हैं |

कुत्ते पर एक रिसर्च की गई | जिसमें यह पाया गया कि कुत्ते पानी के अंदर भी चीजों का पता लगा लेते हैं | वैज्ञानिकों ने कुत्ते की सूंघने की शक्ति का पता लगाने के लिए पानी के अंदर एक जूता डाला तथा उसमें कुछ परफ्यूम डाला | कुत्ते ने उसका सही से पता लगा लिया | जिससे साबित होता है कि कुत्ते पानी के अंदर भी चीजों का पता लगा सकते हैं |

कुत्ते एक दूसरे का पिछवाड़ा क्यों सूंघते हैं।

पानी के अंदर से छोटे-छोटे गैस के बबल्स निकलते रहते हैं | लेकिन इंसान इनका पता नहीं लगा सकता है और ना ही इसे देख सकता है | यह काम सिर्फ कुत्ते ही कर सकते हैं |

कुत्ते की नाक आने वाली हवा को दो भागों में विभाजित कर देती है | एक भाग में वह सांस लेता है तथा दूसरे भाग को दिमाग में स्थित किसी हिस्से से जोड़कर उस वस्तु का पता लगाने के रूप में काम में लेता है |