सांप की दो मोहे वाली जीभ क्यों होती है

सांप की दो मोहे वाली जीभ क्यों होती है

एनिमल सुपर सेंस के इस एपिसोड में हम जानेंगे की सांप की दो मोहे वाली जीभ क्यों होती है तथा सांप चूहे जैसे शिकारियों का पता कैसे लगाता है सांप को शिकारी का पता कैसे चलता है

एनिमल सुपर सेंस के इस एपिसोड में हम जानेंगे कि सवाद कैसे महसूस होता है | गंध कितनी अहमियत रखती है | शायद आप सोचेंगे कि कुदरत खाने की लजीज चीजें नहीं देती | हमारी मुताबिक जीव जंतु जिंदा रहने के लिए खाते हैं | मजे के लिए नहीं खाते हैं सिर्फ इंसान ही है जो सवाद में फर्क महसूस कर सकता है | लेकिन मामला इससे कहीं ज्यादा पेचीदा तथा दिलचस्प है |

जीव जंतु की दुनिया में सवाद तथा गंध के बीच का फर्क ज्यादा बड़ा नहीं होता है | जैसे जमीन पर चलने वाले जीवो के लिए स्वाद का मतलब है किसी सेंचरी सेल को उत्तेजित करने वाले टेस्ट नामक केमिकल का पता लगाना | लेकिन उनके सूंघने की ताकत हवा में मौजूद गंदे का पता भी लगा लेती है |

स्तनधारी जीव में यह जीन पूरी सेल्स पर मौजूद होते हैं | लेकिन कुछ अलग जीवो में यह काफी अजीब जगहों पर हो सकते हैं | लेकिन पानी के अंदर रहने वाले जीवो में गंध वाले रिसेप्टर अलग तरीके से काम करते हैं |

आज हम सांप तथा उसकी सुनने की काबिलियत पर नजर डालते हैं | यह एक रैटलस्नेक है | ऐसे सांप उत्तरी तथा दक्षिणी महाद्वीपों में पाए जाते हैं | यह कई तरह के पर्यावास में मिलते हैं | रैटलस्नेक सांपों में भी अन्य सांपों की तुलना में सुनने की क्षमता काफी तेज होती है | यही इन्हें उन सांपों का मुकाबला करने में मदद करती है |

यह सांप अपने दो मुही जीभ से हवा में उपस्थित कणों से गंध का पता लगाते हैं | यह अपनी जीभ को लब लबाकर कर हवा में उपस्थित आसपास के कणों से गंध का पता लगाते हैं | यदि आप किसी सांप को जीभ निकालते हुए देखें तो यह मत समझना कि वह आपको डंक मारने की कोशिश कर रहा है | आप यह समझने की कोशिश करें कि यह हवा में उपस्थित गंध का पता लगाने की कोशिश कर रहा है ने की आपको डंक मारने की कोशिश कर रहा है |

किसी भी शिकार को खाने से पहले यह झटपट उस शिकार के स्वाद का भी पता लगा लेते हैं | इनके सुनने की ताकत बड़ी गजब की होती है |

सांप गंध तथा स्वाद का पता अपनी दो मुही जीभ से लगाता है | जबकि किसी भी चीज को सुनने के लिए तथा किसी भी कंपनी को महसूस करने के लिए सांप अपने निचले जबड़े की हड्डी का प्रयोग करता है | क्योंकि वहां पर बहुत सारे सेंसर सेल होते हैं जो कि इस चीज को महसूस करा देते हैं |