मेष राशि में जन्म लेने वाले व्यक्तियों का भविष्य कैसा होता है

मेष राशि में जन्म लेने वाले व्यक्तियों का भविष्य कैसा होता है

वैसे तो जन्म लेने वाले हर व्यक्ति का भविष्य अलग होता है । किसी भी व्यक्ति के भविष्य की सही से भविष्यवाणी नहीं की जा सकती तथा उसके भविष्य के बारे में सही से कुछ भी नहीं कहा जा सकता । पर कुछ बातें ऐसी होती है जिनको हम दावे के साथ में कह सकते हैं कि इस तरह की समस्याएं उसकी जीवन में होगी या फिर इस तरह की सफलताएं उनके जीवन में होगी । क्योंकि जन्म राशि का प्रभाव कुछ तो हमारे भविष्य पर जरूर पड़ता है । यह सही नहीं है कि हम जो भी बात बोले वह पूरी की पूरी सच हो । लेकिन उनमें से बहुत सारी बातें सच होती है । जिनको हम मानने से इनकार नहीं कर सकते हैं ।

मेष राशि में जन्म लेने वाले व्यक्ति की आयु की बात करें तो उनकी आयु 75 वर्ष से ऊपर होती है । यानी कि यह व्यक्ति 75 वर्ष से भी ज्यादा की आयु के होते हैं

मेष राशि में जन्म लेने वाले व्यक्तियों के लिए कौन कौन से महीने कष्ट दाई होते हैं

मेष राशि में जन्म लेने वाले व्यक्तियों की जीवन में साल के पहले महीने में कष्ट होता है तथा इसके बाद में 13 वर्ष की आयु में थोड़ा बहुत कष्ट होता है । उसके बाद में 19 वर्ष की आयु में जल में डूबने से अथवा किसी और कारण से कष्ट हो सकता है । उसके बाद में 50 वर्ष की आयु में किसी अन्य रोग से ग्रसित होकर के कष्ट होने की संभावना बनी रहती है । उसके बाद में 60 वर्ष की आयु आने पर किसी ऐसी है असाध्य बीमारी का सामना करना पड़ सकता है यानी कि मृत्यु तुल्य कष्ट की संभावना बनी रहती है।

मेष राशि वाले जातकों के लिए यह साल तो कष्ट दाई होते ही हैं । इसके अलावा कुछ और साल होते हैं जिनमें भी इनको शारीरिक कष्ट का सामना करना पड़ सकता है । उन साल को हम नीचे आपको बता रहे हैं 12,16,20,24,26,34,36,41,42,48,51,60,65

मेष राशि वाले जातकों के लिए कौन कौन से साल अच्छे होते हैं

मेष राशि वाले व्यक्तियों की जीवन के सारे दिन कष्ट दही नहीं होते हैं । उनके लिए कुछ साल ऐसे होते हैं जो उनके लिए भाग्यशाली होते हैं तो हम आप आपको बताएंगे कि मेष राशि वाले जातकों के कौन कौन से साल भाग्यशाली होते हैं । उनके जीवन की 12, 16 ,20 24 , 26, 34 ,37 उन 50 ,42 ,45, 48, 51 ,60 और 65, 60साल उनके लिए भाग्यशाली माने जाते हैं।

मेष राशि में जन्म लेने वाले व्यक्ति में कौन-कौन से गुण पाए जाते हैं । अब हम मेष राशि में जन्म लेने वाले व्यक्तियों के गुण तथा अवगुण की बात करेंगे।

मेष राशि में जन्म लेने वाले व्यक्ति का स्वभाव चंचल होता है । इस तरह के व्यक्ति धर्मात्मा , बुद्धिमान तथा उदारवादी प्रकृति के होते हैं । मेष राशि वाले व्यक्ति बहुत ज्यादा चालाक विपक्षी तथा अपनी स्त्री में नीरत रहने वाले तथा किसी अन्य नारी से प्रेम करने वाले होते हैं । मेष राशि वाले जातकों में अहंकार काफी पाया जाता है तथा यह कर्तव्य वादी होती हैं । मेष राशि वाले जातकों का स्वभाव में क्रोधी होते हैं । इनका शरीर दुबला पतला होता है तथा इनको अपने जीवन में प्राय किसी ना किसी रोग से चिंता सताती रहती है । इनके शरीर की बात की जाए तो इनका शरीर का कुछ भाग लालिमा लिया होता है । यह अपने ही लोग के दुख का कारण बनते हैं ।

यह लोग अपने जीवन में उन्नति के जितने भी साधन प्राप्त करते हैं । यह सब कठिन परिश्रम से तथा अपने जख्मों से ही प्राप्त कर पाते हैं । इन्हें आसानी से किसी भी चीज की प्राप्ति नहीं होती है ।

मेष राशि वाले जातकों को किन-किन चीजों से सावधान रहना चाहिए

मेष राशि वाले जातकों को नदी , तालाब या सागर के पानी में जाने से बचना चाहिए । क्योंकि मेष राशि वाले जातकों को नदी , तालाब या सागर के पानी से बहुत ज्यादा डर लगता है तथा इनके लिए यात्राएं खराबी हो सकती है । मेष राशि वाले व्यक्तियों को किसी बुरे मित्र से तथा झगड़े से तथा बहस बाजी से हमेशा बच के रहना चाहिए । क्योंकि यह चीजें इन्हें नुकसान पहुंचा सकती है । इसके अलावा मेष राशि के लोग स्पष्ट वादी होने के कारण यह सबका ध्यान अपनी ओर खींच लेते हैं । इनके स्वभाव में थोड़ी सी गर्मी होती है । जिसके कारण वह हर एक व्यक्ति से भिड़ जाते हैं । इस तरह के झगड़ों से मेष राशि वाले व्यक्तियों को बच के रहना चाहिए । क्योंकि इस तरह के झगड़े उनके लिए हानिकारक होते हैं ।

मेष राशि वाले जातकों का वैवाहिक जीवन कैसा होता है

मेष राशि वाले जातकों की पत्नी की बात करें तो इनकी पत्नी धर्म का पालन करने वाली होती है । इनकी पत्नी सुशील तथा गुणवान होती है । इनकी पत्नी के वजह से हमेशा मीठे शब्दों की फुआ निकलती है ।

मेष राशि वाले जातकों की संतान किस प्रकार की होती है

मेष राशि वाले व्यक्तियों की संतान का स्वभाव रजोगुण होता है । इस तरह की व्यक्ति की संतान धर्म के विरुद्ध भी काम कर सकती है । इसके अलावा इनकी संतान बुरी संगति में भी फस सकती है । जिसके कारण इन्हें अनेक कष्ट सहने पढ़ सकते हैं । मेष राशि वाले जातकों की लड़कियों की बात की जाए तो इनकी लड़कियां काफी गुणवान , सुशील तथा बुद्धिमान होती है । किंतु उनका स्वास्थ्य अक्सर खराब रहता है ।

मेष राशि वाले व्यक्तियों की मृत्यु किस प्रकार होती है

मेष राशि वाले व्यक्तियों की मृत्यु किसी रोग से अपने ही घर में होती है या फिर अपने ही कुल के जन्म लेने वाले किसी व्यक्ति के हाथों होती है । मेष राशि वाले व्यक्ति संसार के सभी सुख दुख का अनुभव करते हुए 75 वर्ष की आयु पूरी कर के परलोक सिधार जाते हैं । तथा इन की जीवन लीला समाप्त हो जाती है ।