ब्राह्मण को काबू में कैसे करें, ब्राह्मणों को काबू में कैसे करें brahman pandit ko kabu mein kaise karen

ब्राह्मण को काबू में कैसे करें , ब्राह्मण को काबू कैसे करें , pandit ko kabu mein kaise karen . ब्राह्मणों को काबू में कैसे करें , pandit ko kabu mein kaise karen , brahman ko kabu mein kaise karen , ब्राह्मण को कैसे काबू किया जाए , brahman ko kabu kaise kare , ब्राह्मणों को काबू में कैसे करें

आज ब्राह्मण को काबू में करने के टॉपिक के बारे में बात करेंगे । ब्राह्मण को काबू में करने के लिए कौन से सरल तरीके को अपनाना चाहिए । जिससे कि आप किसी भी ब्राह्मण को अपने काबू में कर सकते हो । प्रत्येक प्रकार के व्यक्ति को अपने बस में और काबू में करने का तरीका होता है । आचार्य चाणक्य ने प्रत्येक व्यक्ति को काबू में करने का तरीका बताया था ।

आचार्य चाणक्य ने बताया कि धन के लोभी और लालची व्यक्ति को धन देकर के काबू में किया जा सकता है। इसके साथ ही आचार्य चाणक्य के अनुसार अहंकारी व्यक्ति को विनम्रता पूर्वक हाथ जोड़ करके और प्रणाम करके अपने बस में और काबू में किया जा सकता है । ठीक उसी प्रकार से मूर्ख व्यक्ति को उपदेश देकर के काबू में किया जा सकता है तो पंडित और ब्राह्मण को धार्मिक और सच बात बता कर के वश में और काबू में किया जा सकता है ।

पंडित तथा ब्राह्मण व्यक्ति काफी बुद्धिमान होता है। इसलिए पंडित तथा ब्राह्मण को काबू में करना थोड़ा मुश्किल होता है । लेकिन यदि आप पंडित से धार्मिक बातें करेंगे , सच बात करोगे और बुद्धिमत्ता पूर्वक बातें करोगे तो आप किसी भी पंडित तथा ब्राह्मण व्यक्ति को अपने काबू में कर सकते हो ।

ब्राह्मण को काबू कैसे करें

ब्राह्मण को काबू में करने के तरीके के बारे में विस्तार से जानते हैं । आचार्य चाणक्य जी के अनुसार बुद्धिमत्ता पूर्वक बातें करके ब्राह्मण को काबू में किया जा सकता है और ब्राह्मण को काबू में कर सकते हैं । लेकिन इसके अलावा भी बहुत सारी ऐसी बातें हैं जिसे जान करके आप ब्राह्मण को काबू में कर सकते हो ।

1 . धार्मिक बातों से brahman ko kabu mein kaise karen

brahman ko kabu mein kaise karen : किसी भी ब्राह्मण को काबू में करने के लिए उससे धार्मिक बातें करनी चाहिए धार्मिक बातों के माध्यम से किसी भी ब्राह्मण को काबू में किया जा सकता है। क्योंकि ब्राह्मण धर्म कर्म में विश्वास रखता है । जैसा व्यक्ति का आचार व्यवहार और आचरण होता है । यदि उसी के अनुरूप उसके साथ आचार व्यवहार किया जाए तो उस व्यक्ति को काबू में किया जा सकता है और ब्राह्मण के साथ बुद्धिमत्ता पूर्वक बातें करनी चाहिए । धार्मिक बातें करनी चाहिए । धर्म से जुड़ी हुई बातें करनी चाहिए । इस तरह से आप ब्राह्मण को अपने वश में और काबू में कर सकते हो । जो ब्राह्मण धार्मिक प्रवृत्ति का होता है , उससे धार्मिक बातें करके काबू में किया जा सकता है ।

2 . सम्मान देकर ब्राह्मण को कैसे काबू किया जाए

ब्राह्मण को कैसे काबू किया जाए : ब्राह्मण को सम्मान देकर के भी अपने काबू में किया जा सकता है । क्योंकि ब्राह्मण सम्मान के भूखे होते हैं । कुछ ब्राहमण अहंकारी और घमंडी होते हैं । यदि इस तरह के ब्राह्मण को आप सम्मान दे देंगे तो आप उसे बड़ी आसानी से अपने काबू में कर सकते हो । जो ब्राह्मण धार्मिक होता है , उसे धार्मिक बातों से काबू में किया जा सकता है और जो ब्राह्मण अहंकारी और घमंडी होता है , उसे सम्मान देकर के काबू में किया जा सकता है ।

3 . शुद्धता से brahman ko kabu kaise kare

brahman ko kabu kaise kare : अपनी शुद्धता का ध्यान रख कर के भी ब्राह्मण को काबू में किया जा सकता है । ब्राह्मण को साफ सफाई बहुत अधिक पसंद होती है । जो व्यक्ति साफ सुथरा देता है । धार्मिक बातें करता है । धार्मिक अनुसरण करता है । उससे ब्राह्मण बहुत खुश होता है और ब्राह्मण को काबू में किया जा सकता है । ब्राह्मण मांस , मदिरा आदि का सेवन नहीं करता है । यदि आप इन चीजों से दूर रहते हैं और इनसे दूरी बनाए रखते हैं तो भी आप ब्राह्मण को काबू में कर सकते हो ।

4 . अच्छी बाते करके pandit ko kabu kaise karen

pandit ko kabu kaise karen : ब्राह्मण से अच्छी बातें करके भी ब्राह्मण को काबू में किया जा सकता है । यदि आप ब्राह्मण से शास्त्रों से संबंधित , धर्म से संबंधित धार्मिक बातें करोगे तो भी ब्राह्मण काबू में हो जाता है । ब्राह्मण के साथ अच्छे से प्यार से बात करनी चाहिए । प्यार से पेश आना चाहिए । धीमी आवाज में बात करनी चाहिए और बुद्धिमत्ता पूर्वक बात करनी चाहिए । इस तरह से आप किसी भी ब्राह्मण को अपने काबू में कर सकते हो ।

5 . ज्ञान की बात करके ब्राह्मण पंडितों को काबू में कैसे करें

ब्राह्मण पंडितों को काबू में कैसे करें : ब्राह्मण धर्म कर्म से जुड़ा हुआ होता है । ब्राह्मण का मुख्य कार्य धार्मिक कार्यों को पूरा करना होता है । यदि आप ब्राह्मण से ज्ञान से जुड़ी हुई बातें करेंगे । अपने शास्त्रों से जुड़ी हुई बातें करेंगे । वास्तु शास्त्र की बात करेंगे और ग्रहों से जुड़ी हुई बातें करेंगे तो ब्राह्मण आपसे खुश होगा और आपके काबु में हो जाएगा । ब्राह्मण के सामने आपको रामायण , महाभारत , गीता , वेद , पुराण से संबंधित ज्ञान की बातें करनी चाहिए । जिससे कि ब्राह्मण आपकी काबू में हो जाए ।

6 . मदिरा से दूर रहकर ब्राह्मण को कैसे काबू में करें

ब्राह्मण को कैसे काबू में करें : अधिकतर ब्राह्मण मांस , मदिरा से दूर रहते हैं । क्योंकि मांस मदिरा उनके धर्म को नष्ट करते हैं और उनकी शुद्धता नष्ट होती है । जो व्यक्ति मांस मदिरा से दूर रहता है और मांस मदिरा का सेवन नहीं करता है उस व्यक्ति से ब्राह्मण हमेशा खुश रहता है और उसके काबू में रहता है । ब्राह्मणों को धर्म के अनुसार मांस मदिरा सेवन करना वर्जित बताया गया है । जबकि वर्तमान के ब्राह्मण मांस मदिरा का सेवन करते हैं और इस से परहेज नहीं करते हैं ।

7 . मीठी वाणी बोले करके brahman ko kabu kaise kare

brahman ko kabu kaise kare : मीठी मीठी धार्मिक बातें करके ब्राह्मण को काबू में किया जा सकता है । पवित्र ग्रंथों से जुड़ी हुई बातें , बुद्धिमत्ता पूर्वक बातें , ज्ञान की बातें , श्लोक यदि आप ब्राह्मण से करेंगे और मीठी मीठी बातें करेंगे तो ब्राह्मण आपके काबू में हो जाएगा ।

pandit ko kabu mein kaise karen . ब्राह्मणों को काबू में कैसे करें

1 . ब्राह्मण पेड़ से गिरे हुए पत्ते नहीं हैं , तूफानों से कह दो जरा औकात में रहें ।

2 . ब्राह्मण बदलते हैं तो नतीजे बदल जाते हैं। सारे मंजर सारे और अंजाम बदल जाते हैं ।

3 . कौन कहता है परशुराम पैदा नहीं होते है।
पैदा तो होते हैं बस नाम बदल जाते हैं ।

4 . ये आवाज नही ब्राह्मण की दहाड़ हैं ।
ब्राह्मण जितना शांत है उनता ही खूंखार है ।
अगर अकेला भी सामने खड़ा हो तो समझाना ब्राह्मण पहाड़ है ।

5 . ना नजर बुरी है, ना मुँह काला है । अपना कोई क्या बिगाडेगा , अपने सिर पे तो फरसे वाला है ।।

6 . क्यों कोशिश करता है ब्राह्मण शेर बनने की, ब्राह्मण शेर पैदा होते है , बनाये नहीं जाते हैं ।

7 . हम पंडितों को कभी छेड़ना नहीं, क्या पता कब गुस्सा आ जायेगा , कुछ और हो न हो पर, तुम्हारे चहरे के नक्शे जरूर बदल जायेंगे ।।

8 . हाथ तो हम जोड़ते हैं सिर्फ अपनी माँ के आगे ,
वरना हम ब्राह्मण तो वह हैं, जो मौत को भी घुंघरु पहनाकर अपने दरबार में मुजरा कऱवादें । देख ले इतिहास रावण का

9 . कोशिश तो सब करते है, लेकिन सबको हासिल ताज नही होता । शोहरत तो कोई भी कमा लेता है,
पर पंडित वाला अंदाज नहीं होता है ।

10 . पंडित का छोरा हुं , कुछ तो खाश करूँगा ।
लड़ाई झगड़े में क्या रख्खा है, मैं तो सीधे नाश करूँगा ।।

11 . माफ़ कर देते है हम अक्सर लोगो को, यही तो हम ब्राह्मणों की खाश बात है । जिसके ऊपर है , आशीर्वाद श्री परशुराम का उसे डरने की क्या बात है ।।

12 . क्रोध हम बाह्मण का कौन सम्भाल पायेगा,
सारा मंजर बदल जायेगा । भूल कर भी न छेड़ना ब्राह्मण को वरना तुझे फिर कोई नहीं पहचान पायेगा ।।

13 . ब्राह्मण आज भी अपने हुनर में दम रखते हैं । होश उड़ जाते हैं दुश्मनों के, जब ब्राह्मण दुश्मनों की महफ़िल में कदम रखते हैं ।।