Dog and कुत्ता बिल्ली के पीछे क्यों भागता है ?बिल्ली के पीछे कुत्ता क्यों पड़ता है

Dog and कुत्ता बिल्ली के पीछे क्यों भागता है ?बिल्ली के पीछे कुत्ता क्यों पड़ता है ?

कुत्ता बिल्ली के पीछे क्यों भागता है ? kutta billee ke peechhe kyon bhaagata hai

Dog and कुत्ता बिल्ली के पीछे क्यों भागता है ?बिल्ली के पीछे कुत्ता क्यों पड़ता है

Dog and कुत्ता बिल्ली के पीछे क्यों भागता है ?बिल्ली के पीछे कुत्ता क्यों पड़ता है कुत्ता बिल्ली के पीछे क्यों भागता है ?कुत्ते की कुछ फालतू तथा पॉपुलर नस्लों के नाम कुत्ते से जुड़े हुए कुछ शकुन तथा अपशकुन  kutta billee ke peechhe kyon bhaagata hai

कुत्ता और बिल्ली दोनों ही मनुष्य के साथ रहने वाला एक सामाजिक जीव बन चुका है । काफी समय से इन दोनों जीव को मनुष्य अपने घरों में पालता आ रहा है ।

यह दोनों ही अब पालतू जानवर बन चुके हैं । पर इन दोनों के इतिहास के बारे में बात करें तो हमें बहुत सारी कहानियां इन के इतिहास में मिलती है ।

एक कहानी तो यह भी है कि कुत्ता और बिल्ली एक दूसरे के शत्रु क्यों है । कुत्ता बिल्ली के पीछे क्यों भागता है ।

कुत्ता और बिल्ली की क्यों नहीं बनती है । इसका भी कई जगह पर उल्लेख मिलता है ।

कुत्ता बिल्ली के पीछे क्यों भागता है ?

आपने बहुत सारे जगहों पर यह कहानी सुनी होगी कि कुत्ता बिल्ली के पीछे भागता है तो आज हम जानेंगे कि कुत्ता बिल्ली के पीछे क्यों भागता है ?

एक समय की बात है । एक किसान था । जिसके घर में गाय भैंस जैसे पशु पाले हुए रहते थे । उस किसान के घर में एक कुत्ता भी पाला हुआ था । वह कुत्ता अपने मालिक के प्रति ईमानदार तथा वफादार था ।

वहां पर रोज एक बिल्ली आती थी । वह उस कुत्ते को देखकर के डर जाती थी । उसकी कुत्ते के सामने हिम्मत नहीं पड़ती थी । जबकि उस बिल्ली का मन उस किसान के घर में मौजूद दूध ,दही खाने को ललचाता था ।

वह कई दिन तक यह सोचती रही कि मैं दूध और दही को कैसे खाऊं । क्योंकि कुत्ता वहां दूध और दही की चौकीदारी करता रहता था जिसके कारण बिजली उसके पास में आ नहीं सकती थी ।

एक दिन दिल्ली ने एक तरकीब सोची और कुत्ते को इस बात के लिए मनाने का उपाय सोचा ।

बिल्ली ने कुत्ते को बताया कि आप तो मालिक के इतने वफादार हो । यदि हम इसमें से थोड़ा-थोड़ा खा भी लें तो मालिक को क्या पता चलेगा ।

पहले तो कुत्ते न उसे खाने से मना कर दिया । फिर बिल्ली ने काफी समझाया तब जाकर के कुत्ता मान गया ।

फिर धीरे-धीरे कुत्ता , बिल्ली दूध दही खाने लगे । वह भी मालिक से चुप कर के । मालिक को कुछ पता ही नहीं चल पाता था । ऐसा करते-करते केही दिन गुजर गए ।

kutta billee ke peechhe kyon bhaagata hai

1 दिन मालिक को इस बात का पता चल ही गया और उसने कुत्ते को भी काफी मारा पीटा तथा वहां से निकाल दिया ।

अब कुता मालिक का वफादार नहीं रहा । अब कुत्ते को बहुत ज्यादा ही पछतावा हुआ और उसने यह सोचा कि इसे बिल्ली ने ही अपने को गलत रास्ते पर ले गई है ।

इस बिल्ली के कारण ही माला तथा मेरी वफादारी खत्म हो गई है । इस बिल्ली ने मेरे साथ छल किया है ।

अगले दिन जब दिल्ली वापिस उस कुत्ते के सामने आई तब कुत्ते को बहुत ज्यादा ही गुस्सा आ गया और वह बिल्ली के पीछे भागने लगा । कुत्ता बिल्ली के पीछे भागता है । कुत्ते तथा बिल्ली की शत्रुता हो गई थी ।

वैसे कुत्ता और बिल्ली खाद्य श्रंखला के एक चक्कर में बंधे हुए होते हैं । कुत्ता बिल्ली को खाता है और बिल्ली चूहे को खाती है । इस प्रकार यह एक चक्र बना हुआ रहता है ।

कुत्ता और बिल्ली दोनों जानवर पालतू होने के साथ-साथ दोनों जानवर मांसाहारी भी होते हैं । यह मांस का भक्षण करते हैं । कुत्ता और बिल्ली दोनों केई प्रकार के जानवरों तथा पक्षियों का शिकार करके खा सकते हैं ।

सारे कुत्ते और बिल्ली की प्रजातियां फालतू नहीं होती है । कुत्ते तथा बिल्ली की कुछ प्रजातियां फालतू होती है । इन्हें घरों में पाला जाता है ।

कुत्ते और बिल्ली की कुछ नशल तो इतनी पॉपुलर है कि इन्हें दुनिया भर में पाला जाता है । लोग इन्हें अपने घरों में पालतू जानवर के रूप में रखते हैं ।

कुत्ते की कुछ फालतू तथा पॉपुलर नस्लों के नाम

1 -Rottwelir ( रॉटविलर डोग )
2 – bull Dog ( बुल डोग )
3 – German Shepherd ( जर्मन शेपर्ड )
4 – Labrador Retriever

कुत्ता और बिल्ली से जुड़े कुछ शकुन अपशकुन भी हमारे समाज में मौजूद है । इनके शकुन तथा अपसुकून का वर्णन हमारे पुराण में भी मिलता है ।

कुत्ते से जुड़े हुए कुछ शकुन तथा अपशकुन

शास्त्रों के मतानुसार यदि कुत्ता किसी भी रोगी के सामने या फिर बीमार आदमी के सामने अपनी पूछ को हिलाता है । तब उस बीमार आदमि कि जल्द ही मृत्यु होने वाली होती है ।

यदि यात्रा पर जाते समय कोई कुत्ता अपने दांई और चले तो उस व्यक्ति को अपार धन तथा सुंदर स्त्री के मिलने की संभावना रहती है ।

यदि किसी भी स्थान पर बहुत सारे कुत्ते एकत्रित होकर के एक साथ रोते हैं । उसी स्थान पर किसी प्राकृतिक आपदा के आने का संकेत बना रहता है ।