Close

चमगादड़ जैसे कान वाली लोमड़ी

चमगादड़ जैसे कान वाली लोमड़ी

लड़कियों इस तरह के लड़कों को अपना बॉयफ्रेंड बनाती है

चमगादड़ जैसे कान वाली लोमड़ी चिकनी झाड़ियों छोटे घास मैं अपना घर बनाती है । यह ज्यादातर कीड़े मकोड़े तथा बिना रीड की हड्डी वाले जानवर को खाती है तथा अपना जीवन यापन करती है ।

इतने छोटे शिकार को पकड़ने के लिए छोटी सी छोटी आवाज इनके बड़े ही काम आती है । इस लोमड़ी के चमगादड़ जेसे कान सिर्फ सजावट के लिए नहीं बने हैं वह दिन के समय इन से बदन को ठंडा रखने का काम करती है । क्योंकि स्वाना में दिन के समय गर्मी बहुत ज्यादा बढ़ जाती है ।

कुत्ते एक दूसरे का पिछवाड़ा क्यों सूंघते हैं।

इस लोमडी की कान चारों दिशाओं में घूम सकते हैं । यानी कि यह लोमड़ी अपने कानों को 180 डिग्री तक घुमा सकती है । इसमें अपने नन्हें शिकारी की आवाज सुनकर के शिकार का पता लगाती है तथा खुद भी अपनी सुरक्षा करती है । लोमड़ी को नेवले से , लकड़बग्घा से तथा काली पीट वाले सियार से सावधान रहना पड़ता है । क्योंकि यह तीनों जानवर इस लोमड़ी का शिकार कर सकते हैं । यह जानवर इस लोमड़ी को मारकर के खा भी जाते हैं ।

जो जीव किसी का शिकार बनना नहीं चाहते हैं उन जीवो के लिए तेज कान का होना बहुत जरुरी होता है

सच्चे प्यार की क्या निशानियाँ होती है।