गाली क्या होती है ? जातिसूचक गाली देने पर कौन सी धारा लगती है , अगर कोई गाली दे तो क्या करना चाहिए

गाली के बारे में रोचक जानकारी । गाली मां तथा बहन पर ही क्यों बनी होती है ? गाली क्या होती है ? गाली क्यों निकालते हैं ? गाली कब दी जाती है ? गाली देने पर कौन सी धारा लगती है । गाली गलौज करने पर कौन सी धारा लगती है । घंटा गाली का मतलब – ghanta gadi ka matlab kya hota hai , अगर कोई गाली दे तो क्या करना चाहिए , जातिसूचक गाली देने पर कौन सी धारा लगती है ? koi gali de to kya karna chahiye ?

गाली तो हर व्यक्ति कभी ना कभी इस्तेमाल करता ही है । हर व्यक्ति गाली जरूर देता है ‌ हां यह एक अलग बात है कि कुछ व्यक्ति अलग तरह की गाली का प्रयोग करते हैं तथा कुछ व्यक्ति कुछ अलग तरह की गाली का प्रयोग करते हैं ।

गाली क्या होती है ?

गाली क्या होती है ? हम गाली की बात करी तो गाली एक गंदा शब्द होता है जो कि हम कई बार काम के बिगड़ जाने पर या फिर गुस्से में इस्तेमाल करते हैं । इसे हम गाली केहे सकते हैं ।

गालियां भी अलग-अलग तरह की होती है । लोग अपने क्षेत्र के हिसाब से गालियां बनाते हैं तथा निकालते हैं । सबकी अपनी-अपनी एक गाली होती है वह हमेशा उसी गाली का प्रयोग करते हैं ।

कुछ कॉमन गालियां के नाम

1 . बहन…..
2 . मादर….
3 . बेटी….
4 . भोस….
5 . साला
6 . हरामि
7 . कमिना

कुछ गालियां ऐसी होती है जो कि पूरे भारतवर्ष में बोली जाती है । ऐसी गालियां कोमन गालियां होती है इनको हर कोई व्यक्ति इस्तेमाल करता ही है ।

जब आप गालियों पर गौर करते हैं तब अधिकतर गालियां मां तथा बेहन पर होती है । इस बात को तो हम नहीं बता सकते कि ऐसा क्यों है ।

आपने देखा होगा हमेशा मां तथा बहन की ही गाली लोग देते हैं । लोग उसी के ऊपर गाली बनाते हैं । पता नहीं ऐसा क्यों ? हम बाकी की गालियां बहुत ही कम देते हैं ।

आप जब गालियों कि गणना करेंगे तो आप पाएंगे कि अधिकतर गालियां मां तथा बेहन पर ही बनी है ।

आप एक बात नोट करना , चाहे कितना भी बड़ा आदमी क्यों ना हो । बिजनेसमैन ही क्यों ना हो । वह हमेशा कोई ना कोई गाली जरूर निकालता है या तो वह गाली गुस्से में निकालेगा या फिर किसी और कारण से निकालेगा ।

बड़े से बड़ा व्यक्ति तथा बिजनेसमैन भी लड़ाई होने पर गाली यूज करता है । यह एक कॉमन बात है ।

जब कोई व्यक्ति गाली का प्रयोग करता है तब हम यह अंदाजा लगा सकते हैं कि वह व्यक्ति गुस्से में है या फिर आप से नाराज है ।

गाली देने पर कौन सी धारा लगती है ? गाली गलौज करने पर कौन सी धारा लगती है ?

गाली देने पर कौन सी धारा लगती है । गाली गलौज करने पर कौन सी धारा लगती है । यदि कोई व्यक्ति किसी को गाली गलौज करता है तो कौन सी धारा लगेगी और कितनी सजा होगी? किसी को कुत्ता-कमीना कहा तो किस धारा के तहत FIR दर्ज होगी? अपशब्द कहने पर क्या सजा होगी?

यदि आप किसी को गाली देते हो या किसी के साथ है अभद्र भाषा का प्रयोग करते हो तो भारतीय दंड संहिता की धारा 294 के तहत आप पर कार्रवाई की जा सकती है । यदि आपने सार्वजनिक स्थान पर गाली गलौज नहीं भी किया है तो भी आप पर यह कार्रवाई हो सकती है और यदि आपने सार्वजनिक स्थान पर गाली गलौज किया है या अभद्र भाषा में संगीत गाया है तो भी आप पर भारतीय दंड संहिता की धारा 294 के तहत सजा और जुर्माना दोनों को सकता है । धारा 294 या तीन महीने कारावास या आर्थिक दंड या दोनों गाली गलौज करने पर लगने वाली धारा है ।

इंसान को कुत्ता कमीना जैसे गैर सम्मानजनक संबोधन से पुकारना किस धारा के तहत दंडनीय है? यदि कोई व्यक्ति किसी व्यक्ति को कुत्ता कमीना कह करके गाली गलौज करता है तो भारतीय दंड संहिता की धारा के तहत उस पर कार्रवाई की जा सकती है और सजा और जुर्माना दोनों देना पड़ सकता है । ऐसा करना आईपीसी की धारा 504 के तहत दंडनीय है।

शराब पीकर गाली-गलौज करने पर अब सजा और जुर्माना दोनों भुगतना पड़ सकता है। शराब पीकर गाली गलौज करने पर सजा – भादवि की धारा 323/34 के अपराध के लिये 1-1 माह के सश्रम कारावास एवं प्रत्येक व्यक्ति को 500-500 रुपए करके कुल 2500 रुपए का आर्थिक दंड से दंडित किया जा सकता है। धारा 427 भादस के अपराध के लिए प्रत्येक आरोपी को 500-500 रुपए कुल 2500 रुपए के अर्थदंड से दंडित किया जा सकता है और आर्थिक राशि अदा न करने पर 1-1 माह का अतिरिक्त साधारण कारावास भुगताऐ जाने के भी आदेश भी दिए जा सकते हैं ।

यदि कोई व्यक्ति आपको फोन पर गाली गलौज करता है और अभद्र और असभ्य भाषा का प्रयोग करता है तब आईपीसी की धारा 294 व 506 के तहत मामला दर्ज किया जा सकता है और व्यक्ति पर कार्रवाई की जा सकती है । यदि कोई व्यक्ति फोन पर किसी भी महिला पुरुष से लड़की को गाली गलौज करता है तब उस व्यक्ति पर भारतीय दंड संहिता की धारा 294 व 506 के तहत मामला दर्ज हो सकता है ।

जातिसूचक गाली देने पर कौन सी धारा लगती है ?

जातिसूचक गाली देने पर कौन सी धारा लगती है ? SC या ST वर्ग से ताल्‍लुक रखने वाले किसी व्यक्ति को यदि कोई व्यक्ति जातिसूचक गाली देता है या गाली का प्रयोग करता है , अभद्र भाषा का प्रयोग करता है , असभ्य भाषा का प्रयोग करता है तब उस व्यक्ति पर भारतीय दंड संहिता की धारा 3(1) के अंतर्गत कार्रवाई की जा सकती है । एससी/एसटी के व्यक्ति को मारपीट करने पर व जातिसूचक गाली देने पर भारतीय दंड संहिता की धारा 341 से 1 महीने का कारावास , धारा 342 के तहत 6 महीने का कारावास और धारा 307 के तहत सश्रम कारावास और आर्थिक दंड भी दिया जा सकता है ।

अगर कोई गाली दे तो क्या करना चाहिए koi gali de to kya karna chahiye ?

koi gali de to kya karna chahiye ? tip समझदार लोगों के लिए । अगर किसी ने आपको गंदी गाली दिया, तो आपको क्या करना चाहिए? अगर कोई हमें गाली दे तो बदले में हमें क्या करना चाहिए । अगर कोई आपको गाली दे तो आपको क्या करना चाहिए? » Agar Koi Aapko Gaali De Toh Aapko Kya Karna Chahiye . जब पडोसी गाली दे तो क्या करना चाहिए? Jab Padosi Gaali De Toh Kya Karna Chahiye

यदि कोई आपको गाली दे रहा है तो सबसे पहला काम तो यही है कि उसे समझा बुझा कर के रोकना चाहिए और उसे बोलना चाहिए कि गाली मत दो गाली देना सही नहीं है । जो भी कहना है जो भी बात करनी है वह बिना गाली के भी हो सकती है । यह कह कर के उसे समझाने की कोशिश करनी चाहिए । उसके बाद में भी यदि वह व्यक्ति नहीं मानता है और गाली गलौज करता है तब आपको गाली गलौज का सबूत रिकॉर्ड करना होगा । आपको करना कुछ नहीं है अपने जेब से मोबाइल निकालना है और या तो उसका वीडियो रिकॉर्ड कर लें या फिर वॉइस रिकॉर्ड करके ऑडियो रिकॉर्ड कर लें । बस आपको सबूत के तौर पर उसका या तो ऑडियो रिकॉर्ड कर लेना है या फिर उसका वीडियो रिकॉर्ड कर लेना है । उसके बाद आपको कुछ नहीं करना है बाकी का कार्य भारतीय कानून करेगा और पुलिस करेगी । बस आपको उस ऑडियो को ले जाकर के पुलिस वालों को दे देना है सबूत के तौर पर । इतना करने के बाद अगले वाले को भी समझ में आ जाएगा कि गाली गलौज करने से क्या हो सकता है । लेकिन आपको पहला प्रयास यही करना है कि उसको किसी भी तरीके से गाली गलौज करने से रोके और उसे समझाएं कि गाली गलौच ना करें , अभद्र भाषा का प्रयोग ना करें शांति से बात करें ।

घंटा गाली का मतलब – ghanta gadi ka matlab kya hota hai

घंटा गाली का मतलब – प्रायः क्रुद्ध होने या क्रोध आने पर किसी को कही जानेवाली कोई ऐसी अश्लील तथा अभद्र बात जिसमें किसी के आचरण , प्रतिष्ठा , स्थिति आदि पर अनुचित आक्षेप या आरोप किया गया हो। घंटा गाली का प्रयोग आमतौर पर राजस्थान के मारवाड़ में किया जाता है । घंटा गाली का मतलब किसी भी कार्य के विरुद्ध होता है । चलिए अब घंटा गाली को समझाने के लिए एक उदाहरण का प्रयोग करते हैं । यदि आपका कोई दोस्त कहे की जनवरी का महीना 32 दिन का होता है , तब आप यह कहेगें कि घंटा यह हो ही नहीं सकता । इसका मतलब क्या हुआ कि कोई भी असंभव बात होती है तब हम गाली के रूप में घंटा शब्द का प्रयोग करते हैं ।

घंटा गाली को समझने के लिए चलिए एक और उदाहरण का प्रयोग करते हैं । मान के चलिए आपका कोई छोटा भाई है आप उसे बोलेंगे कि भाई यह वाला काम कर दो । तब आपका छोटा भाई बोलेगा घंटा ही नहीं करूंगा । इसका मतलब क्या हुआ कि वह आपके कार्य के विरुद्ध है और वह आपका कार्य नहीं करना चाहता

error: Content is protected !!