Giloy ke fayde . Giloy in Hindi . गिलोय के फायदे ।Giloy juice benefit in Hindi .

32

Health Benefits Of Giloy: बुखार से लेकर पाचन तक हर समस्या के लिए करें गिलोय का इस्तेमाल, जानें इसके अचूक फायदे

आज हम गिलोय के रस के फायदे के बारे में हिंदी में जानेंगे की गिलोय जूस पीने के कौन कौन से Benefit होते हैं । हमें गिलोय का जूस क्यों पीना चाहिए । इन सब सारे सवालों के जवाब आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे ।

गिलोय के अन्य नाम – Giloy ke other names

गिलोय का पेड़ नहीं गिलोय की बेल होती है और आयुर्वेद में गिलोय को और भी अन्य कई नामों से जाना जाता है । गिलोय के नाम इस प्रकार से हैं – अमृता, गुडुची, छिन्नरुहा, चक्रांगी, आदि।

गिलोय का Juice हमारे लिए काफी फायदेमंद होता है । giloy juice में करीब 100 प्रकार की।बीमारियों को खत्म करने की ताकत होती है । giloy को काढ़ा बनाकर के इस्तेमाल करते हैं ।

पतंजलि गिलोय स्वरस के फायदे । गिलोय पतंजलि
नीम गिलोय – नीम गिलोय के फायदे इन हिंदी

Giloy juice ke fayde . Giloy juice benefit in Hindi .

जैसे की हम आपको बताई चुकी है कि Giloy का Juice बहुत सारी बीमारियों को ठीक करने की क्षमता रखता है । giloy juice सर्दी जुकाम का , अस्थमा , स्वाइन फ्लू , डेंगू , चिकनगुनिया जैसी खतरनाक तथा भयानक बीमारी को भी ठीक करता है ।

इसके अलावा Giloy चिकनगुनिया , ओबेसिटी , डायबिटीज , किसी भी तरह का इन्फेक्शन , किसी भी प्रकार के विटामिन की कमी , विटामिन b12 की कमी की कमी को भी पूरा करता है ।

यदि किसी को भयंकर arthritis की प्रॉब्लम हो उसको भी giloy juice दूर कर देता है । यह गिलोय का काढ़ा बहुत ही गुणकारी तथा लाभकारी होता है ।

यदि किसी की Immunity कमजोर हो गई है या फिर वह व्यक्ति जिनकी Immunity ही कमजोर है और बार-बार बीमार पड़ते हैं , उनके लिए तो गिलोय का रस रामबाण है ।

इसके साथ ही यदि आप उल्टी , दस्त , बुखार , जुखाम आदि से छुटकारा पाना चाहते हैं तो आप को नियमित रूप से गिलोय के रस यानी कि giloy juice का इस्तेमाल करना चाहिए । इसके बहुत सारे फायदे हैं ।

आयुर्वेद के अनुसार यदि आप लगातार गिलोय पीते हैं तो आपको सर्दी , जुखाम , बुखार कभी नहीं होगा यह कभी आपके नजदीक भी नहीं आएंगे । आपको सर्दी , जुकाम , बुखार से छुटकारा हमेशा हमेशा के लिए मिल जाएगा ।

गिलोय वात नाशक है , गिलोय पित्त नाशक है । Giloy कफ पित्त को भी कम करती है तथा यह वातपित के रोगों के उपचार के लिए भी काम में ली जाती है ।

जो भी गिलोय का रस पीते हैं उन्हें कभी भी ब्लड प्रेशर की शिकायत नहीं होती है और जो giloy juice पीता है उसका कभी भी केलोस्ट्रोल नहीं बढ़ता है । गिलोय का काढ़ा पीने वाले को कभी भी Heart Problem नहीं होती है ।

गिलोय का रस पीने वाले को Sugar नहीं होता है और यदि किसी को शुगर है अभी तो वह भी खत्म हो जाता है । शुगर के लिए भी Giloy का Juice पिया जाता है ।

गिलोय को कैंसर नाशक भी बताया गया है । यह कैंसर जैसी घातक तथा खतरनाक बीमारियों के उपचार में भी प्रयोग में ली जाती है ।

कैंसर जैसी बीमारी होने पर Giloy तथा एलोवेरा , गेहूं का जवारा , तुलसी और नीम इन सब का रस मिलाकर के कैंसर रोगी को दिया जाता है ।

इन 5 चीजों का जूस बनाकर के रोगी को पिलाने से कैंसर जैसी बीमारी भी खत्म हो जाती है ।

यदि किसी जगह पर चोट लगने पर कट लग जाए तो उसमें भी Giloy काफी Benefit होती है ।कटी फटी जगहों पर गिलोय लगाने से ठीक हो जाती है ।

यदि बालों में Hair Fall तथा डैंड्रफ की प्रॉब्लम है तो भी आप Giloy का इस्तेमाल कर सकते हो । इसके सेवन से भी बाल गिरने की तथा डैंड्रफ की Problem दूर की जा सकती है ।

यदि किसी की आंखों में Eaching, Redness और जलन जैसी समस्या रहती है इनमें भी Giloy काफी Benefit साबित होती है ।

Giloy का रस डायरिया में भी काफी आराम देता है डायरिया की समस्या जिनको रहती है या फिर होती है उनको गिलोय का Juice जरूर पिलाना चाहिए । इससे डायरिया खत्म हो जाता है ।

यदि किसी को लीवर से संबंधित कोई problem है तो उनको भी Giloy Juice जरूर पीना चाहिए जिनसे उनके लीवर से संबंधित समस्याएं खत्म हो जाएगी ।

यदि आप बच्चों को गिलोय देना चाहते हो तो लंबे समय तक ना दें । जिन बच्चों को डाइजेस्ट की समस्या हो या फिर बुखार की problem हो उनको Giloy दे सकते हो ।

Giloy juice ke fayde . Giloy juice benefit in Hindi .

गिलोय किन किन रोगों के लिए फायदेमंद होती है ?

बहुत सारे शेर अनगिनत रोग है जिनमें Giloy काफी Benefit होती है । उनमें से कुष्ठ रोग , अस्थमा , गाउट , मधुमह , दस्त , खूनी बवासीर , एचआईवी दुर्बलता , नपुसंकता ,बांझपन मासिक चक्र संबंधित परेशानियां , यूटीआई , अनिद्रा और पेट संबंधित रोग घंठिया , गुप्त रोग , मलेरिया जैसी कई घातक तथा खतरनाक बीमारियों के इलाज में काम आती है Giloy ।

गिलोय के नुकसान । गिलोय के फायदे और नुकसान इन हिंदी । Giloy ke nuksan

सबसे पहले तो गिलोय को डॉक्टर या चिकित्सक के परामर्श से ही आपको लेना चाहिए । यदि आप Giloy ले रहे हैं और आपको कोई problem नहीं होती है तब आप इसे ले सकते हो ।

यदि आप Giloy का Upyog कर रहे हो और आपको किसी एलर्जी की Problem आ रही है तब आप डॉक्टर से परामर्श जरूर लें ।

यदि आप Giloy को External Use करना चाहते हो तो इसे Milk या फिर Honey के साथ इस्तेमाल कर सकते हो ।

गिलोय तुलसी के फायदे

अब हम गिलोय तुलसी के फायदे के बारे में जानते हैं । गिलोय और तुलसी के बहुत सारे फायदे हैं । यदि आप गिलोय और तुलसी का फायदा उठाना चाहते हो आपको गिलोय के साथ में एलोवेरा पपीते के पत्ते और अनार और तुलसी को मिला करके उसका काढ़ा या फिर Juice तैयार कर ले ।

यदि आप इन सब को मिलाकर के इन का Juice तैयार करते हैं और Giloy Juice का नियमित रूप से सेवन करते हैं तो आपको बुखार तथा प्लेटलेट्स एकदम ठीक हो जाते हैं । इनकी Problem कभी नहीं होती है ।

इनके सेवन से पहले ही दिन में प्लेटलेट्स की संख्या बढ़ना शुरू हो जाती है और आप को चौंकाने वाले Benefit नजर आएंगे ।

डेंगू के मरीजों के लिए Giloy एकमात्र होती है । डेंगू में मरीज की प्लेटलेट्स कम हो जाती है और Giloy का Juice पीने से प्लेटलेट्स फिर से बढ़ जाती है । इसलिए जिन व्यक्तियों को डेंगू की शिकायत है उन्हें गिलोय का Juice जरूर पिलाना चाहिए ।

जो भी व्यक्ति गिलोय Juice पीता है उनको कभी भी मोटापे की शिकायत नहीं होती है । Giloy मोटापे को दूर करता है । जो भी व्यक्ति मोटा है और वह गिलोय के Juice का नियमित रूप से इस्तेमाल करता है तो वह मोटे से पतला हो जाता है ।

गिलोय जूस डायबिटीज को भी खत्म करता है । डायबिटीज के रोगी एकदम से ठीक हो जाते हैं ।डायबिटीज वाले रोगियों को Giloy Juice सुबह-शाम पिलाया जाता है ।

गिलोय खांसी जैसी बीमारियों को खत्म करने की क्षमता भी रखता है । क्योंकि यह वात और कफ जैसी प्रॉपर्टी अपने पास में रखता है । जिससे कि खांसी में भी राहत मिलती है ।

गिलोय की लकड़ी के फायदे – Giloy ki lakadi ke fayde .

गिलोय की लकड़ी के बहुत सारे फायदे हैं । गिलोय की लकड़ी से ही Giloy Juice तैयार किया जाता है और गिलोय की लकड़ी से ही गिलोय का काढ़ा बनाया जाता है । इसके साथ ही गिलोय की लकड़ी से गिलोय चूर्ण तथा गिलोय पाउडर भी बनाया जाता है ।

गिलोय के पत्ते के फायदे – giloy benefit in Hindi

अब हम बात करते हैं कि गिलोय के पत्तों के क्या-क्या फायदे हैं और किस प्रकार से गिलोय के पत्तों का इस्तेमाल कर सकते हैं ।

गिलोय के पत्तों का हम इस्तेमाल कर सकते हैं । गिलोय की पत्तियों को हम चबा सकते हैं । इसके अलावा गिलोय की पत्तियों से बने हुए जूस का Use भी हम कर सकते हैं ।

यदि हम Giloy की पत्तियों के रस का use करते हैं तो यह हमारी Skin के लिए काफी Benefit होता है ।

हम गिलोय से बनी पत्तियों के काढ़े को भी use कर सकते हैं । Giloy की पत्तियों का काढ़ा बनाकर के पी सकते हैं । यह गाउट तथा अर्थराइटिस में काफी Benefit होता है ।

गिलोय के नुकसान । गिलोय के फायदे और नुकसान इन हिंदी । Giloy ke nuksan

Giloy ko kaise use Kare. गिलोय रस पीने का तरीका

गिलोय के रस को यदि आप पीना चाहते हो तो इस के दो तरीके हैं । दो तरीके से गिलोय के Juice को आप ले सकते हो ।

गिलोय को आप दो तरीके से use कर सकते हो । Giloy को use करने का पहला तरीका है उसका रस मना करके पी सकते हो दूसरा तरीका है गिलोय का काढ़ा बनाकर के आप भी सकते हो ।

आइए अब हम आपको बताते हैं कि गिलोय को कैसे use करते हैं । गिलोय कि जो हरि लकड़ी होती है उसको हम इस्तेमाल करते हैं गिलोय का रस बनाने के लिए । गिलोय की लकड़ी का इस्तेमाल करते हैं ।

यदि आप गिलोय का जूस बनाना चाहते हो और गिलोय में से रस को निकालना चाहते हो तो आपको गिलोय की जो हारी लकड़ी होती है उसको छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ कर के कूट लेना है ।

गिलोय की लकड़ी को कूटकर के उसे कैसे भी बर्तन में रख कर के पानी डाल कर के उसे रात को सोते समय भिगो देना है ।

सुबह उठकर के गिलोय की लकड़ी को हाथ से मसलकर के उस पानी को पी लेना है । इस तरह से आप Giloy का जूस तैयार कर सकते हो ।

गिलोय का काढ़ा कैसे बनाएं ।

यदि आप गिलोय का काढ़ा बनाकर के इसका इस्तेमाल और सेवन करना चाहते हो तो आपको Giloy की हरी लकड़ी को पानी में डालकर के उसे उबाल लेना है ।

जब आधा कप पानी बच जाए तब उसे ठंडा करके पी लेना चाहिए । इस तरीके से आप गिलोय का काढ़ा बनाकर के भि पी सकते हो ।

गिलोय का चूर्ण – Giloy Ka Churn

अब हम गिलोय का चूर्ण के बारे में जानेंगे कि आपको गिलोय का चूर्ण किस प्रकार से लेना है । Giloy को आप अलग अलग तरीके से ले सकते हैं इसके केई फॉर्मेट होते हैं । जैसे कि ऊपर हमने गिलोय के रस और काढे के बारे में बताया । अब हम गिलोय के चूर्ण के बारे में बात करते हैं कि गिलोय चूर्ण को आप किस प्रकार से ले सकते हो ।

यदि आप गिलोय को चूर्ण के रूप में लेना चाहते हैं तो आधा चम्मच आपको गिलोय का चूर्ण लेना है थोड़ा सा Hony लेना है या फिर गर्म पानी के साथ भी ले सकते हो ।

इसको दिन में दो बार खाली पेट इस्तेमाल करना है या तो इसे Honey के साथ use कर सकते हो या फिर से गर्म पानी के साथ use कर सकते हो ।

यदि आप लोग को टैबलेट फॉर्मेट में या फिर कैप्सूल फॉर्मेट में लेना चाहते हो तो एक से दो टेबलेट खाना खाने के बाद में लेना चाहिए ।

यदि आप गिलोय जूस को लेना चाहते हो तो इसकी जूस को दो से तीन चम्मच गिलोय जूस लेना है और इसके बराबर मात्रा में ही पानी को मिला लेना है।

गिलोय के इस जूस को आप खाना खाने से पहले दिन में दो बार use कर सकते हो ।

यदि आप गिलोय को पाउडर के रूप में लेना चाहते हो तो एक एक कप पानी में गिलोय पाउडर को डाल दीजिए और जब आधा कप पानी शेष रह जाए तब उसे ठंडा करके पी लीजिए ।

जब आधा कप पानी करे जाए तब उसे छानकर के खाली पेट इसका सेवन करना चाहिए ।