आज हम आपको बताएंगे खुश रहने के कुछ मूल मंत्र

आज हम आपको बताएंगे खुश रहने के कुछ मूल मंत्र

आज हम आपको बताएंगे खुश रहने के कुछ मूल मंत्र

1 – काम में ज्यादा व्यस्त रहें | कम से कम बोले | पहले सोचें और फिर बोले अपनी गलती स्वीकार करना सीखें | व्यवहारिक बनें | राय सबके लिए और निर्णय स्वयं करें |


2 – सबको समान से बुलाए और जल्दी सोए | जल्दी जागे | बिना मांगे सलाह ना दे | बीती बातें याद ना करें | जरूरत की चीजें ही खरीदें |


3 – सही काम सही समय पर करें | उसे कल पर नहीं छोड़े | दूसरों पर नहीं छोड़े | सही ढंग से करें | और सत्य को महत्व दें | मैं ठीक हूं | ऐसी जिद ना करें |

आज हम आपको बताएंगे खुश रहने के कुछ मूल मंत्र


4 – टीवी और मोबाइल पर ज्यादा समय व्यर्थ ना करें | अच्छी किताबें पढ़ें | दूसरों के दृष्टिकोण को सुनें | औरों के हित की बातें भी सोचे | एक भलाई का काम और भी करें | योग अभ्यास भी करें |


5 – ऐसे में नम्रता का व्यवहार करूंगा | पास आने
वाले को विवेकपूर्ण ढंग से संतुष्ट करूंगा | किसी की निंदा नहीं करूंगा | किसी से बेर और देवेश ना करें | मेरे साथ जो भी सही गलत होगा | उसे भगवान की कृपा मानूंगा | हर हाल में शांत रहूंगा |


6 – एक भी शब्द गलत नहीं बोलूंगा | प्रभु का नाम
स्मरण करता रहूंगा | भविष्य की चिंता नहीं करूंगा | दूसरों का दोष नहीं गुण देखूंगा | केवल सच ही बोलूंगा और विचार शुद्ध और पवित्र करूंगा |

आज हम आपको बताएंगे खुश रहने के कुछ मूल मंत्र


7-लोभ आने नहीं दूंगा और काम को भटकने नहीं दूंगा | मैं केवल भगवान का यंत्र हूं | भगवान की कृपा का मन ही मन धन्यवाद दूंगा | क्षमता को बनाए
रखूंगा | अपने दुर्गुणों को पहचान कर उनको दूर
करूंगा | प्रभु सब में समाया है | हर समय मेरे ऊपर प्रभु की कृपा है | आज मै मौन रहकर दृष्ट भाव से जी लूंगा |