kali mirch in hindi . kali mirch के कुछ चमत्कारी उपाय
काली मिर्च के कुछ चमत्कारी उपाय। kali mirch in hindi . kali mirch के कुछ चमत्कारी उपाय ।

kali mirch in hindi . kali mirch के कुछ चमत्कारी उपाय बताते है। वैसे तो आप सभी kali mirchका अवश्य प्रयोग करते होंगे, काली मिर्च का प्रयोग तड़का लगाने में घर में चीजें बनाने में इस्तेमाल किया जाता है।

इसका प्रयोग काफी सारी डिशिज बनाने में काली मिर्च का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं। अष्टांग हृदयम जो कि हमारी आयुर्वेद की किताब हजारों साल पहले वाग्भट ऋषि के द्वारा लिखी गई थी।

आपने अगर चरक संहिता, सुश्रुत संहिता अगर आपने पढ़ी है। तो दोस्तों उसमें काली मिर्च एक से दो काली मिर्च खाकर सुबह खाली पेट हल्के गुनगुने पानी के साथ में सेवन करते हैं। चबा चबाकर खाते हैं। तो इससे आपको गजब के जबरदस्त फायदे होते हैं।

kali mirch in hindi – सुबह खाली पेट kali mirch खाने के फायदे

black pepper in hindi – अगर आप सुबह खाली पेट उठ के एक से दो kali mirch का हल्के गुनगुने पानी के साथ में मेरे बताए अनुसार सेवन करते हैं। आप कहीं रोगों से बचे रहते हैं । सबसे पहले तो आजकल का जीवन शैली खराब होने के कारण हमारी इम्यूनिटी यानी की रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी कम हो चुकी है,और कमजोर हो चुकी है।

1 . black pepper in hindi – सर्दी ,खांसी,जुखाम में काली मिर्च खाने के फायदे

kali mirch ke fayde – उसके कारण जैसे ही थोड़ा सा मौसम मैं बदलाव आता है। तो हमें सर्दी हो जाती है। खांसी हो जाती है। जुखाम हो जाता है। बुखार हो जाता है। अगर आप की भी इम्यूनिटी काफी लो रहती है।

आपको भी सर्दी खांसी जुकाम हो जाता है। बुखार हो जाता है। उसको तुरंत ठीक करने के लिए आपको बहुत ही जबरदस्त बेहतरीन अष्टांग हृदयम का प्रयोग बताने वाली हूं।

आपको चार से पांच kali mirch को अच्छे से खंड में , जो हमारी लंगरी होती है। पत्थर की उसमें पीस लेना है। इसमें के बाद में उसके बीच में 1 अदरक का टुकड़ा होता है। वह भी डाल कर अच्छे से पीस लेना है। साथ में एक लोंग का टुकड़ा वह भी अच्छे से पीस लेना है।

साथ में तुलसी का एक पत्ता उसको भी अच्छे से पीस लेना चारों में एक चम्मच बीच में शहद मिलाना है। इससे जिसको भी सर्दी हो रखी है। खासी हो रखी जुकाम हो रखा है। बुखार हो रखा है। इसके अलावा जिन की इम्युनिटी काफी कमजोर रहती है। कम रहती है। रोग प्रतिरोधक क्षमता कम रहती है।

उनको इसका एक से दो बार सुबह खाली पेट शाम को खाली पेट हल्के गुनगुने पानी के साथ ऐसे भी आप चाट सकते है। दिन में दो बार के सिर्फ प्रयोग से पूरी तरह से सर्दी खांसी जुकाम बुखार किसी भी तरह की इम्यूनिटी से संबंधित समस्या रहती है। जड़ से खत्म हो जाते हैं। व्यक्ति ठीक हो जाता है।

kali mirch in hindi . kali mirch के कुछ चमत्कारी उपाय

2 . पाचन शक्ति मजबूत बनाने के kali mirch खाने के फायदे। benefits of kali mirch in hindi .

kali mirch ke fayde: Health benefits of black pepper – आप लोग अच्छे से जानते होंगे। कि हमारे शरीर में जो ताकत आती है वह हमारे शरीर में जो पोषक तत्व होते हैं। उसकी वजह से होती है।अगर आप कुछ भी खाते पीते हैं। वह खुन में जाता हैं। मान लीजिए आपकी पाचन शक्ति कमजोर हैआप कुछ भी खा रहे हैं। वह अच्छे से डाइजेस्ट नहीं हो रहा है।

आपके शरीर के अंदर कहां चला जाता है आपको पता नहीं चलता है,और हम दुबले पतले रहते हैं। इसका कारण यह है। आप कुछ भी खाते हो वह वेस्ट मेटेरियल की तरह बाहर निकल जाता है। उसके जो पोषक तत्व होते हैं। वह डाइजेस्ट होकर खून नहीं बनाते हैं। जिसके कारण हमारे शरीर में खून नहीं बनता है।

जिसके कारण हमारे शरीर में ताकत नहीं आएगी। स्पूर्ति नहीं आएगी kali mirch को सुबह पीसकर हल्के गुनगुने पानी में इसका पाउडर डालकर सेवन करें, और गर्मियों के मौसम में थोड़ी कम काली मिर्च का सेवन करें।

सर्दियों के मौसम में तीन चार या पांच kali mirch का सेवन भी कर सकते हो‌। इसमें बीच में नीम की पत्ती और तुलसी की पत्ती डालनी है। नीम की पती हफ्ते में एक बार डालनी है,और तुलसी की पती आप रोजाना इस्तेमाल कर सकते हैं।

3 . थकान और कमजोरी दूर करें kali mirch खाने के फायदे

health benefits of black pepper – खासकर ऐसे पुरुष जिनको काम करने का मन नहीं करता है। जिन्हें ऐसा लगता है। कि जिंदगी से पूरी तरीके से जोश खत्म हो चुका है। जिनको थकान और कमजोरी बहुत ज्यादा रहती है। इसके लिए आपको तीन से चार काली मिर्च ले लेनी है।

एक बात का ध्यान रखें, जिसको पित्त प्रकृति रहती है। उन्हें kali mirch का कम सेवन करना है। क्योंकि यह गर्म होती है। दो से तीन काली मिर्च लेकर उसके साथ 1 से 2 ग्राम की मात्रा में अश्वगंधा चूर्ण और 1 से 2 ग्राम की मात्रा में त्रिफला चूर्ण लेना है,और इन तीनों को अच्छे से मिला लेना है।

इसका आप हल्के गुनगुने पानी के साथ सेवन करते हैं। तो इससे आपको थकान कमजोरी या शरीर में किसी भी हड्डीयो में दर्द हो,जोड़ों में दर्द हो ऐसी समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं।

4 . Black Pepper Benefits in Hindi – पायरिया की समस्या में काली मिर्च खाने के फायदे

black pepper benefits in hindi kali mirch khane ke fayde cold cough best home remedies – इसके अलावा जिन को पायरिया की समस्या रहती है, और जिनके दांतों में बहुत ज्यादा दर्द रहता है। जिनके मसूड़ों में खून आता है। जिनके मसूड़े काले हो चुके हैं, दांत सड़ चुके हैं।उनके लिए यह सबसे बेहतरीन उपाय है।

सबसे पहले दो या तीन kali mirch के टुकड़े लेकर उसे पीस ले। इसे पीसते वक्त आपको मिक्सर का इस्तेमाल नहीं करना है। क्योंकि जड़ी बूटियों के जो पोषक तत्व होते हैं। वह लोहे के संपर्क में आने से खत्म हो जाते हैं।

तो आपको पत्थर की ही लंगरी लेनी है। जिसमें हम मसाले पीसते हैं। आपको उसी में काली मिर्च को पीसना है। काली मिर्च के साथ दो लोग के टुकड़े लेने हैं। साथ ही उनको भी पीस लेना है।

तथा घर के आसपास जहां पर भी पीपल का पेड़ लगा हुआ है। वहां जाकर आप को पीपल के पेड़ पर कट लगाना है। वहां से दूध निकलेगा उस दूध को रुई की सहायता से एक बर्तन में इकट्ठा कर लेना है, और दूध लगी, रूई पर एक चुटकी काली मिर्च का पाउडर डालना है।

जहां पर भी आपको दांतों में दर्द रहता है वहां पर दो या ढाई मिनट रखने से दर्द गायब हो जाएगा।

5 . वात, पित्त, और कफ में kali mirch खाने के फायदे

vaat, pitt, aur kaph mein kaalee mirch khaane ke phaayade- आप जानते होंगे कि हमारा शरीर तीन दोषो से मिलकर बना हुआ होता है। वात, पित्त, और कफ, जानते होंगे, हमारे जो सेल्स जो है। वह भी तीन चीजों से मिलकर बने होते हैं।

दुनिया में हर एक चीज तीन चीजों से मिलकर बने होते हैं। मान लीजिए इसमें आपका कोई एक भाग भी बिगड़ जाता है। तो इससे हमारी शरीर में रोग आ जाते हैं।

बीमारियां आ जाती है। और जिनका वात रोग बिगड़ जाता है। उनको जोड़ो और घुटनों में दर्द होता है। उनके लिए यह सबसे आसान और बेहतरीन उपाय है। हर सिंगार का पेड़ होता है। उसकी पत्तियों को पीस लेना है।

इसमें आपको चार से पांच पत्ते ही पीसने है। इसके साथ आपको तीन से चार काली मिर्च भी पीस लेनी है।

इसके साथ एक से दो लोंग के टुकड़े इनको पीसने के बाद में आपको क्या करना है। कि हल्के गुनगुने पानी के साथ में आपको मरीज को सेवन कराना है। सेवन कराने के साथ में याद रखेंगे, आपको मालिश भी करनी है। गर्म तेल करके और ऊपर से रेत को गर्म करके कपड़े के बीच में डालकर जहां पर घुटने जोड़ों में दर्द होता है।

वहां पर रखना इनसे वह जगह गरम रहेगी, और साथ में अनुलोम-विलोम, प्राणायाम कपालभाती, प्राणायाम जो कि मरीज बेठ कर कर सकता है। इससे 1 महीने के भीतर वात के भयंकर से भयंकर रोग से आप छुटकारा पा सकते हैं।

काली मिर्च के कुछ चमत्कारी उपाय। काली मिर्च खाने के फायदे।benefits of kali mirch in hindi.