meditation kaise kare . मेडिटेशन करने का सबसे आसान तरीका।

21

 ध्यान कैसे करें Meditation kaise kare – आज कल की भागती और दौडती जिंदगी मे खुदके लिए समय निकालना बहुत मुश्किल हैै, लोग पुरे दिन Busy रहते है, अपने बच्चों और पार्टनर का ध्यान रखते है तथा अपनी समाजिक लाइफ को भी मेन्टेन रखते है ऐसी हालत मे लोगो को मानसिक तनाव हो जाता है | 

इस मानसिक तनाव और Stress से छुटकारा पाने के लिए काई लोग नाशे या बुरे लतो का शिकार हो जाते है, जिससे उन्हे कुछ पलो का आराम तो मिल जाता है लेकिन बाद मे तनाव दोगुना हो जाता है जबकि तनावमुक्त लाइफ के लिए किसी भी प्रकार की नकारात्मक चीज की जरूरत नही है आप मेडिटेशन के द्वारा किसी भी प्रकार के तनाव या समस्या को हैंडल कर सकते है |

इसलिए आज इस आर्टिकल में हम आपको बताएगे ध्यान कैसे करें ( Meditation kaise kare ) 

आज हर व्यक्ति मेडिटेशन यानि ध्यान मे हाथ अजमा रहा है वैसे तो मेडिटेशन करना कोई गलत बात नही है लेकिन कुछ लोगो को ये भ्रम होता है कि ये किसी खास प्रकार की पूजा या साधना का हिस्सा है |

लेकिन ऐसा कुछ भी नही है, आज हर धर्म और सप्रंदाय के लोग ध्यान करते है । लेकिन उनके मेडिटेशन करने के कारण अलग-अलग होते है |

 कुछ लोग एकाग्रता बढ़ाने के लिए ध्यान ( Meditation ) करते है जबकि कुछ तनाव कम करनेे के लिए और कुछ Self-improvement के लिए मेडिटेशन करते है | 

इससे कोई फर्क नही पडता कि आप क्यो मेडिटेशन करना चहाते है ? इस आर्टिकल के द्वारा आप आसानी से ध्यान करने के बारे मे जान सकते है | बशर्ते आप इस आर्टिकल मे दिए गए तरीको को सही से FOLLOW करें |

तो चलिए जानते है कि मेडिटेशन क्या है? मेडिटेशन क्या है और मेडिटेशन कैसे करते है ( Meditation kaise karte hain )  

ध्यान क्या है ( Meditation kya hai )

Meditation kaise kare

मेडिटेशन का मतलब किसी चीज पर ध्यान एकाग्रत करना होता है, मेडिटेशन मे ज्यादातर लोग साँसो पर ही ध्यान लगाते है, मेडिटेशन तनाव को दूर करने का तरीका है साँसो पर ध्यान लगाने से आप शुन्य विचार की दशा मे चले जाते है और जब आप ध्यान कर के उठते हे तो एकदम Fresh महसूस करते है | 

जिस तरह आप सोने के बाद Relax और एनर्जेटिक महसूस करते है वैसा ही आप ध्यान करने के बाद महसूस करते है । लेकिन सोने और मेडिटेशन करने मे बहुत अन्तर होता है | सोते समय कुछ होश नही रहता लेकिन मेडिटेशन मे व्यक्ति पुरी तरह जागरूक होता है |

तो इससे पहले हम आपको बताएं की मेडिटेशन कैसे किया जाता है ( meditation kaise kiya jata hai ) चलिए मेडिटेशन के प्रकार ( Types of meditation ) के बारे जानते हैं । 

मेडिटेशन कितने प्रकार का होता है? 

 यूं तो दुनिया भर मे हजारो तरह के मेडिटेशन करने की विधिया है लेकिन सबसे आसान है Breathing meditation जिसमे कमर, कंधो और गर्दन को सीधा कर के साँसो पर ध्यान देना होता है | 

खैर फिर भी हम आपको कुछ प्रमुख मेडिटेशन के तरीको के बारे मेे बता रहे है, आपको जो सरल और फायदेमंद लगे उसे कर सकते है लेकिन सभी को एक साथ करने कि कोशिश ना करें |

meditation kaise kare . मेडिटेशन करने का सबसे आसान तरीका।

माइंडफुलनेस मेडिटेशन ( Mindfullness meditation in hindi )



इस समय ये मेडिटेशन बहुत Fomous होता जा रहा है इसका कारण इसको करने कि सरलता है, इसमे आपको अपने आस-पास के वातारवण और अपने शरीर के प्रति जागरूक रहना होता है | 

◾शरीर पर किसी भी प्रकार की हलचल या Sensation हो रही हो तो उन्हे केवल देखते रहें उन्हे जज नही करें केवल उनका निरीझण करें |

 ◾जिस प्रकार आप टी०वी० पर फिल्म देखते है उसी तरह अपने विचारो और शरीर पर हो रही हलचल को देखे जैसे- अगर आप Mindfulness मेडिटेशन कर रहे है और आपके शरीर के किसी हिस्से पर खुजली आ रही है तो उसे खुजाए नही और ना ही उसे किसी भी प्रकार का Reaction दें सिर्फ देखते रहें | 

◾खुजली को बुरा नही माने और आप देखेगे कि धीरे-धीरे खुजली जा रही है लेकिन अपनी तरफ से खुजली को भगाने की कोशिश ना करें बरना खुजली और बढ़ जायगी |

◾इस मेडिटेशन को पुरे दिन किया जा सकता है । आप प्रतिदिन जो कार्य कर रहे है उनके प्रति जागरूक रहने की आदत डाले अक्सर ऐसा होता है कि हम कोई काम कर रहे होते लेकिन हमारे मन मे किसी और चीज के विचार आ रहे होते है | 

◾जब आप कोई काम करें तो अपना पुरा ध्यान उसी काम पर रखें किसी और चीज के बारें मे ना सोचें | कोई काम करते समय आपने शारीरिक हरकतो को और खुदको ऐसे देखे जैसे आप किसी दूसरे व्यक्ति को देख रहे है | 

◾प्रतिदिन की लाइफ मे अपनी पाँचो इन्द्रीयो को महसूस करें जैसे- अगर आप अपने घर के किचन मे है तो Note किजिए कि आपके किचन मे कैसी गंध ( Smell ) आ रही है, अपने आस-पास की चीजो को गोर से देखे जैसे आप उन्हे पहली बार देख रहे, किचन मे हो रही सभी तरह की अवाजो को सुनने की कोशिश करें |

 इस तरह आप अपनी Awarness को बढ़ा सकते है इस ध्यान से आपकी एकाग्रता ( Concentration ) भी बढेगी | लेकिन डारेक्टली पुरे दिन Mindfull रहने की कोशिश ना करें बल्कि दिन मे पाँच मिनट अलग से निकाल कर आरामदायक आवस्था मे बैढ जाए और आँखें बंद कर के अपने शरीर मे हो रही हलचल को महसूस करें | 

इसके बाद धीरे-धीरे समय बढ़ाते जाए और इसके बाद जाग्रित आवस्था मे भी माइंडफुल रहने की कोशिश करें

विपाशना ध्यान ( vipassana meditation in hindi  )

विपाश्यना मेडिटेशन माइंडफुलनेस ( Mindfullness ) मेडिटेशन की तरह ही है लेकिन इसमे आपको मौन रहना होता है ये आशरम मे किया जाता लेकिन इस मेडिटेशन को सीखने के लिए आपको सालो किसी आशरम मे बिताने की जरूरत नही है बल्कि अपनी जींदगी के 10 दिन देने पडेगे |

 ◾लेकिन यकीन मानिए ये 10 दिन आपकी लाइफ के सबसे आच्छे दिन होगे केवल दस दिनो के अन्दर आप माइडफुलनेस ध्यान सीख जाएगे | 

◾इसके बाद आपको कभी किसी से मेडिटेशन नही सीखना पढेगा | विपाश्यना सीखाने वाले आशरम पुरे हिन्दुस्तान मे है आपको इनसे सम्पर्क करना होगा और 10 दिन की बुकिंग करनी होगी | 

◾सबसे अच्छी बात ये है कि वहा रहना और खाना सब फ्री है लेकिन कृपा कर के आप आशरम से लौटते समय थोडे पैसे दान कर दें क्योकि आपके पैसो से दूसरे Students को सहूलियत दी जाएगी आप Online भी इनके यहा आवेदन कर सकते है आवेदन की पूरी जानकारी इन्टरनेट पर उपलब्ध है आप चाहे तो इसके ऊपर थोडी रीसर्च कर सकते है

त्राटक मेडिटेशन ( trataka meditation in hindi )

इस ध्यान विधि मे आपको किसी प्रकाश बिन्दु या किसी प्रकाशित वस्तु पर ध्यान लगाना होता है | अक्सर लोग मोमबत्ती के द्वारा इसे करते है | 

◾किसी कमरे मे जलती हुई मोमबत्ती को रखे और उसे बिना पलकें छपकाए देखते रहें जबतक कि आपकी आँखो से आसू ना आ जाए | दिमाग मे किसी भी तरह का विचार ना आने दें अपना पुरा फोकस जलती हुई मोमबत्ती पर रखें | 

◾अगर आप को आँखो से रीलेटेड कोई प्रब्लम है तो कृपया इसे ना करें अगर हम त्राटक के बारे में पुरी जानकारी देगे तो पोस्ट बहुत लम्बी हो जायगी इसलिए इसे करने से पहले थोडी रीसर्च कर लें

एकाग्रत ध्यान ( Concentration meditation in hindi )

ये ध्यान कि सबसे आसान विधि है इसे आप कही भी कर सकते है, 

◾ आँखे बंद कर के अपनी साँसो पर ध्यान लगाए और खुदको शुन्य विचार कर लें | 

◾ खुदको जबदस्ती शुन्य विचार ना करें बल्कि पुरा ध्यान अपनी साँसो पर रखें, धीरे-धीरे आपके विचार आना कम हो जाएगे । शुरुआत मे ध्यान करना थोडा मुश्किल होता है इसलिए आपको प्रतिदिन अभ्यास करना होगा | 

◾ अगर आप पहली बार मेडिटेशन कर रहे है तो आपके लिए एक जगह घंटो बैढ कर मेडिटेशन करना मुश्किल हो सकता है । इसलिए 1 मिनट से शुरूआत करें और जब आपको 1 मिनट तक मेडिटेशन करना आसान हो जाए तो धीरे-धीरे समय बढ़ाते रहें

मेडिटेशन कैसे करें ( Meditation kaise kare )



अब तक हम आपको विभिन्न प्रकार के मेडिटेशन और उनको करने के तरीको के बारे मे बता चुके है अब हम आपको कुछ ऐसे Points के बारे मे बता रहे है जो आपके Meditation को Deep करेगे

 * सही समय पर ध्यान करें~ सबसे पहले आप सही समय का चुनाव करें, ऐसे समय का चुनाव करें जब आप सभी जरूरी कमो को कर चुके हो, क्योकि जल्दबाजी मे ध्यान करने से आप सही तरीके से मेडिटेशन नही कर सकते ।

 ज्यादातर लोग सुबह उठ कर Meditation करना पसंद करते है। इसलिए आप जल्दी सुबह उठ कर मेडिटेशन करने की कोशिश करें, बाकि आप अपने शैड्यूल के हिसाब से कभी भी मेडिटेषन कर सकते हैं 

* सही जगह मेडिटेशन करें~ ऐसी जगह बैठ कर मेडिटेशन करें जहाँ कोई आता-जाता न हो और जगह थोडी हवादार भी होनी चाहिए, ध्यान रखें कि कोई बच्चा या कोई व्यक्ति आपको परेशान ना करें |आप छत या किसी शांत पार्क मे भी ध्यान कर सकते है

* आरामदायक आवस्था मे बैठें~ ध्यान करते ,समय ऐसी आवस्था मेे बैठें, जो आरामदायक हो, आप आलती-पालती की आवस्था मे बैढ सकते है । अगर आलती-पालती करने मे असहजता महसूस हो तो आप कुर्सी पर भी बैठ कर Meditation कर सकते है | 

* साँसो पर जोर ना डालें~ अक्सर लोग ध्यान को गहरा करने के लिए लम्बी और गहरी साँसे लेनी की सलाह देते है जो कि कुछ हद तक सही भी है लेकिन साँसो पर दबाव डालने से आप असहज हो जाएगे और ध्यान करना मुश्किल हो जायगा इसलिए साँसो पर बिना किसी तरह का दबाव डाले केवल उन्हे महसूस करें चाहे वो लम्बी या ना हो

* मेडिटेशन से पहले थोडा प्राणायाम करें~  प्राणायम करने से विचारो को थामने मे आसानी होती है, ध्यान से पहले प्राणायाम करने से ध्यान गहरा होता है और साँसो पर Focus करना आसान हो जाता है ।

* मेडिटेशन म्यूजिक सुनें~ थ्यान करतॆ समय कानो मे Headphones लगा लें और मोबाइल मे कोई अच्छा सा मेडिटेशन म्यूजिक ( Meditation music ) लगा लें | लेकिन याद रहें किसी भी प्रकार के फिल्मी गानो को ना सुने इससे आप साँसो पर फोकस नही कर पाएगे | इन्टरनेट से कोई अच्छा सा मेडिटेशन म्यूजिक Download कर लें और ध्यान करते समय उसे सुनें

निष्कर्ष

आज की भागती जिदंगी मे मेडिटेशन खुद से जुडने का एक तारीका है, इससे तनाव और Stress दूर होता हैै और लोगो को एनर्जेटिक महसूस होता है। मेडिटेशन या ध्यान काई प्रकार के होते है जैसे- माइंडफुलनेस ( Mindfullness ), त्राटक और एकाग्रत ध्यान ।

 माइंडफुलनेस मेडिटेशन मे आपको अपने शरीर और वातावरण के प्रति जागरूक ( Aware ) रहना होता है, त्राटक ध्यान विधि मे किसी प्रकाशित वस्तु पर ध्यान केन्द्रित करना होता है | एकाग्रत ध्यान सबसे आसान है जिसमे केवल साँसो पर ध्यान लगाना होता है | 

ध्यान करने से पहले सही समय और जगह का चुनाव करें, मडिटेशन करने से पहले थोडा वर्म अप या प्राणायाम करें करें, इससे विचारो को कन्ट्रोल करने मे आसानी होगी | 

दोस्तो ! आपको हमारी ये पोस्ट मेडिटेशन क्या है ? मेडिटेशन कैसे करेॆ ( meditation kaise kare in hindi ) कैसी लगी कृपया हमें कमेंट के द्वारा जरूर बताए, आपका एक कमेंट हमे इसी तरह लिखने के लिए Motivate करेंगा | जय हिन्द ! जय भारत !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here