miscarriage meaning in hindi. Abortion ka kya matlab hota hai. symptoms of miscarriage in hindi.

मिसकैरेज का अर्थ और मतलब गर्भपात होता है । गर्भपात का मतलब गर्भ में पल रहे शिशु का समय से पहले गिर जाना गर्भपात कहलाता है । गर्भ का असमय और समय से पहले गिरना miscarriage कहलाता है ।

गर्भपात का मतलब क्या होता है? miscarriage, Abortion का समानार्थी शब्द है । गर्भपात के बाद ब्लीडिंग रोकने की दवा ।

गर्भपात के बाद लक्षण । मिसकैरेज (गर्भस्राव) होने के कारण । symptoms of miscarriage in hindi. one month pregnancy abortion in hindi . पहले महीने में गर्भपात के लक्षण। miscarriage ke baad pregnancy in hindi

miscarriage in hindi

मिसकैरेज क्यों होता है? गर्भ में पल रहे भ्रूण के स्वत: निष्कासित होना या समाप्त होने की प्रक्रिया को miscarriage कहते हैं । गर्भाश्य में किसी कारण से भ्रूण (foetus) का अपने आप अंत हो जाना ही गर्भपात (meaning of miscarriage in hindi) कहलाता है ।

meaning of miscarriage in hindi

aborted meaning in hindi . Abortion ka kya matlab hota hai.

Meaning of ABORTION in Hindi . what is abortion in hindi . abort meaning in hindi . abortion in hindi language . meaning of abort in hindi. abortion का अर्थ और मतलब गर्भपात होता है । भ्रूण को गर्भाशय से निष्कासित करने की प्रक्रिया को गर्भपात कहते हैं । जो Abortion खुद होता है उसे miscarriage कहते है ।

missed abortion in hindi

missed abortion का अर्थ और मतलब विफल गर्भपात होता है । विफल गर्भपात से आश्य है कि गर्भाशय में भ्रूण का अपने आप नष्ट होना या फिर जानबूझकर नष्ट करना । विफल गर्भपात में भ्रूण अपने आप नष्ट हो जाता है या फिर उसे नष्ट कर दिया जाता है ।

miscarriage reasons in hindi . मिसकैरेज (गर्भस्राव) होने के कारण – Miscarriage causes in Hindi

garbhpat ke karan in hindi . miscarriage ki wajah . मिसकैरेज होने के कौन कौन से कारण होते हैं । किन कारणों की वजह से मिसकैरेज होता है । कौन-कौन सी ऐसी बातें हैं जिन्हें ध्यान में रखना चाहिए जिससे कि मिसकैरेज ना हो ।

1 . किसी संक्रमण के कारण भी मिसकैरेज हो सकता है । इसलिए गर्भावस्था के दौरान संक्रमण का विशेष रूप से ध्यान रखें ।

2 . गर्भस्थ शिशु की मां को यदि किसी भी प्रकार की बीमारी है जैसे कि थायराइड शुगर आदि जिसकी वजह से भी मिसकैरेज हो सकता है ।

3 . गर्भावस्था के दौरान असंतुलित हार्मोन के कारण भी मिसकैरेज होता है । यदि किसी महिला में प्रोजेस्ट्रोन की कमी है और एस्ट्रोजन की अधिकता है तो भी मिसकैरेज हो सकता है ।

4 . मां को यदि किसी भी प्रकार की शारीरिक समस्या या शारीरिक बीमारी है तो भी मिसकैरेज होने की संभावना होती है ।

5 . यदि मां को गर्भाशय में कोई भी प्रॉब्लम हो गर्भाशय में संक्रमण हो तो भी मिसकैरेज के चांसेस होते हैं ।

6 . यदि महिला की उम्र 35 साल से अधिक है तो उस महिला को भी मिसकैरेज का खतरा रहता है ।

7 . यदि किसी महिला को इससे पहले 3 या 3 से अधिक गर्भपात हो चुके हैं तो भी उस महिला को मिसकैरेज हो सकता है ।

pregnancy meaning in hindi.

Meaning of PREGNANCY in Hindi .pregnancy ka kya matlab hota hai . pregnancy का अर्थ और मतलब गर्भावस्था होता है । यदि किसी महिला के गर्भ में भ्रूण होता है या शिशु होता है तो उसे pregnancy कहते । जिस महिला के गर्भ में बच्चा होता है उसे गर्भवती महिला कहते हैं । गर्भवती महिला की इसी अवस्था को प्रेग्नेंसी के नाम से जाना जाता है।

symptoms of miscarriage in hindi. miscarriage symptoms in hindi.

garbhpat ke lakshan: Miscarriage Symptoms – गर्भपात के लक्षणों को जानिए । गर्भपात या मिसकैरेज के सामान्‍य लक्षण । नीचे हम आपको कुछ सामान्य लक्षण बता रहे हैं । इन लक्षणों के आधार पर आप यह जान सकते हो कि गर्भपात अर्थात मिसकैरेज हुआ है ।

  1. पेट में ऐंठन/ क्रैम्‍प्‍स और दर्द

प्रेगनेंसी के शुरुआती दिनों में पेट में ऐंठन और दर्द होना आम बात होता है । लेकिन गर्भपात के दौरान पेट में दर्द और जो ऐंठन होता है वह थोड़ा तकलीफ दायक होता है । इसके साथ ही गर्भपात के दौरान ऐंठन और पेट दर्द होता है तब इसके साथ में बिल्डिंग भी होती है , तब यह इस बात की ओर संकेत करता है कि आपका मिसकैरेज हुआ है ।

  1. सामान्य से ज्यादा ब्‍लीडिंग होना

प्रेगनेंसी के दौरान सामान्य तौर पर थोड़ी बहुत bleeding महिलाओं को होती है । लेकिन यदि एंठन के साथ बिल्डिंग ज्यादा होती है और पेट में दर्द भी ज्यादा होता है तो यह समझना चाहिए कि मिसकैरेज हुआ है ।

3 . भूरा या गहरे लाल रंग के रक्तस्राव होना

गर्भपात अर्थात मिसकैरेज को पहचानने का यह सबसे अच्छा तरीका है यदि प्रेगनेंसी के बाद महिला को दर्द और ऐंठन के साथ-साथ लाल और भूरे रंग का रक्त योनि मार्ग से निकलता है तो यह मिसकैरेज की ओर संकेत करता है ।

4 . पेट में दर्द होना

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को पेट में दर्द रहता है लेकिन यह दर्द जब असहनीय हो जाता है तब यह इस बात की ओर संकेत करता है कि यह गर्भपात हो सकता है । आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए ।

5 . पेट के निचले हिस्से में दर्द होना

यदि प्रेगनेंसी के बाद महिला को पेट के निचले हिस्से में दर्द रहता है तब यह मिसकैरेज की ओर संकेत करता है । इस को पहचानने का तरीका यह है कि इसका दर्द माहवारी के दौरान होने वाले दर्द के बराबर या उससे ज्यादा हो सकता है ।

one month pregnancy abortion in hindi . पहले महीने में गर्भपात के लक्षण

पहले महीने में गर्भपात के लक्षण कौन-कौन से होते हैं । 1 हफ्ते से 4 हफ्ते में गर्भपात के कौन-कौन से लक्षण होते हैं ।

1 महीने के गर्भ को गिराने के दो तरीके हैं । पहला तरीका मेडिकल गर्भपात तथा दूसरा तरीका सर्जिकल गर्भपात है । इन दोनों तरीकों से ही गर्भ गिराया जा सकता है ।

सर्जिकल गर्भपात से गर्भावस्था को कैसे गिराएं ?

सर्जिकल गर्भपात में MVA तकनीक से 1 महीने से लेकर के 12 सप्ताह के गर्भ को गिराया जा सकता है । पहली तिमाही के गर्भ को गिराने का यह सबसे अच्छा और सुरक्षित तरीका है । डब्ल्यूएचओ के अनुसार यह सही तरीका है । किसी भी 3 महीने के गर्भ को गिराने का ।

सर्जिकल गर्भपात के बिना गर्भावस्था को कैसे रोकें?

मेडिकल गर्भपात से भी गर्भपात को गिराया जा सकता है । मेडिकल गर्भपात में दवाइयों की मदद से गर्भ को गिराया जाता है । मिफेप्रिस्टोन (Mifepristone) और मिसोप्रोस्टल (Misoprostol) दवा की मदद से भी गर्भपात को गिराया जाता है ।

गर्भपात के बाद लक्षण ।

गर्भपात के बाद सामान्य लक्षण : गर्भपात के बाद कौन-कौन से लक्षण महिलाओं में देखने को मिलते हैं । यदि किसी महिला का गर्भपात हुआ है तब उन में कौन-कौन से लक्षण गर्भपात के बाद ऊभर करके नजर आते हैं ।

1 . गर्भपात के बाद महिलाओं को अवसाद की बीमारी हो जाती है । अधिकतर महिलाएं अवसाद से गिर जाती है ।

2 . गर्भपात के बाद अधिकतर महिलाएं आत्मग्लानि से भर जाती है ।

3 . कुछ महिलाओं में गर्भपात के बाद छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा करना और चिड़चिड़ापन भी देखा गया है ।

4 . गर्भपात के बाद महिलाएं अक्सर दुखी हो जाती है वह अवसाद की स्थिति में चली जाती है ।

5 . गर्भपात के बाद कुछ महिलाओं को भूख नहीं लगती है । महिला का खाना खाने का मन नहीं करता है।

6 . गर्भपात के बाद कुछ महिलाएं अपने आप को उत्तेजित महसूस करती है । उनमें उत्तेजना आ जाती है ।

7 . गर्भपात के बाद महिलाएं थकी हुई महसूस करती है ,परंतु उन्हें नींद नहीं आती है । वह सोने की कोशिश भी करती है ।

8 . गर्भपात के बाद सामान्य लक्षणों में कुछ महिलाएं को अपने शरीर पर नियंत्रण नहीं रहता है। उनका नियंत्रण अपने शरीर से हट जाता है । वह अपने शरीर पर नियंत्रण नहीं रख पाती है ।

9 . गर्भपात के बाद महिलाएं ध्यान केंद्रित नहीं कर पाती है । ध्यान केंद्रित करने में समस्याएं आती है । क्योंकि उनका मन विचलित रहता है ।

गर्भपात के बाद ब्लीडिंग रोकने की दवा

गर्भपात के बाद ब्लीडिंग को रोकने के लिए कौन सी दवा दी जाती है । गर्भपात के बाद ब्लीडिंग को रोकने के लिए कौन सी दवा देनी चाहिए । नीचे दी गई दवा गर्भपात के बाद ब्लीडिंग को रोकने के काम आती है ।

मिसोगोन 200mcg टैबलेट: गर्भपात के बाद ब्लीडिंग को रोकने के लिए मिसोगोन 200mcg टैबलेट महिला को दी जाती है । मिसोगोन 200mcg टैबलेट जब कोई महिला लेती है तब इसका असर गर्भाशय पर होता है इस टैबलेट के प्रभाव और असर से गर्भाशय संकुचित हो जाता है ।

miscarriage ke baad pregnancy in hindi

pregnancy abortion in hindi