मुसलमान को काबू में कैसे करें , मुसलमानों को काबू में कैसे करें , मुस्लिम को काबू में कैसे करें

मुसलमानों को काबू में कैसे करें , मुसलमान को काबू में कैसे करें । मुसलमानों को काबू कैसे करें , मुसलमानों को काबू में कैसे करें , मुस्लिम को काबू में कैसे करें , muslim ko kabu kaise kare , musalmano ko kaise kabu kare . musalman ko kaise kabu karen , मुसलमानों को कैसे काबू किया जाए । मुस्लिम को कैसे काबू किया जाए । मियां भाई को काबू में कैसे करें

आजकल काबू में करने का ट्रेंड काफी ज्यादा चल गया है ,। गूगल पर बहुत ज्यादा काबू करने के बारे में सर्च किया जाता है । अलग-अलग जातियों को काबू में कैसे किया जाए । इसके बारे में बहुत अधिक सर्च होता है । कभी यह सर्च किया जाता है कि मुसलमान को काबू में कैसे करें तो कभी यह सर्च किया जाता है कि जाट को काबू में कैसे करें तो कभी यह भी search किया जाता है कि राजपूत को काबू में कैसे करें ।

मुसलमान को काबू में कैसे करें यह क्यों सर्च किया जाता है । इसके बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं है । लेकिन लोग क्यों सर्च करते हैं लोगों के दिमाग में क्या चल रहा है । किसके कारण वह यह सर्च करते हैं कि मुसलमान को काबू में कैसे करें ।

जात का हु मुसलमान में , ना राग ना द्वेष रखता हूं , जे छेड़गा तू मने तो , चीर फाड के धर दूँगा ।।

मुसलमान को लेकर के लोगों के दिमाग में पता नहीं कौन सी भ्रांतियां फैली हुई है और लोग मुसलमान से इतना नफरत क्यों करते हैं । लोग मुसलमान को काबू में क्यों करना चाहते हैं । सलमान ने ऐसा क्या किया है जिससे कि लोग नाराज है और लोग मुसलमान को काबू में करना चाहते हैं ।

इतिहास गवाह है कि नेताओं की कुर्सी जनता ने बनाई , मगर मुसलमान की शान उनकी वीरता ने बनाई है ।

मुसलमानों को काबू में कैसे करें

मुसलमानों को काबू में कैसे करें जब मैंने यह गूगल पर सर्च किया तब मैंने कुछ लोगों के कमेंट पढ़े । उनमें से जो कमेंट मुझे अच्छा लगा मैं आपके साथ शेयर कर रहा हूं । यह कमेंट किसी मुसलमान भाई ने लिखा था ।

” अच्छा रहेगा की गूगल पर कोई ऐसी चीजें सर्च ना करे , वरना गूगल से पहले मुसलमान आपको खोज कर आपकी सारी खुजली मिटा देंगे । “

मुसलमान को काबू में कैसे करें । मुसलमानों को काबू कैसे करें

मुसलमानों को काबू में कैसे करें । मुसलमान को कैसे काबू में करें । मुसलमान को कैसे काबू करें । मुसलमानों को काबू कैसे करें । मुसलमान को काबू कैसे करें

मुसलमान को काबू में कैसे करें इस तरह की चीजों को गूगल पर नहीं सर्च करना चाहिए । क्योंकि मुसलमान को कैसे काबू में करें इस तरह की चीजें धार्मिक हिंसा को भड़काने वाली होती है । इससे हिंदू और मुसलमान के बीच धार्मिक भेदभाव उत्पन्न होता है । हमारा देश भारत संप्रभुता को स्वीकार करता है जिसमें हिंदू मुसलमान जाति का भेदभाव नहीं किया जाता है ।

मुसलमान को काबू में कैसे करें इस तरह की चीजें गूगल पर जो लोग सर्च करते हैं जो कि समाज के एक से दो परसेंट लोगों में आते हैं । क्योंकि अच्छे लोग कभी जातिवाद को बढ़ावा नहीं देते हैं और यह सर्च नहीं करते हैं कि मुसलमान को कैसे काबू करें ।

हमारी गुस्ताखी की हद मत पूछना, हम मुसलमान है,जमीं पर पैर रखकर आसमान कुचल देते है ।

मुसलमान को काबू में कैसे करें , मुसलमानों को काबू में कैसे करें , मुसलमान को कैसे काबू में करें , मुसलमान को कैसे काबू करें , मुसलमानों को काबू कैसे करें , मुसलमान को काबू कैसे करें इस तरह की चिजें गूगल पर धार्मिक हिंसा को बढ़ावा देती है और धार्मिक हिंसा को बढ़ाती है । इसलिए कभी भी गूगल पर इस तरह की चीजों को सर्च ना करें तो ही अच्छा होगा ।

वो बन्दूक ही क्या जो खड़के नहीं और वो मुसलमान , ही क्या जो किसी की आँखों में रड़के नहीं।

मुसलमानों को काबू में कैसे करें

मुसलमान को काबू में कैसे करें तो आपको बता देते हैं कि मुसलमान को क्या किसी भी जाति को काबू में नहीं किया जा सकता है । यदि आप मुसलमान को काबू में करने की कोशिश करेंगे तो इससे आपके साथ और मुसलमान के साथ मारपीट हो सकती है । वैसे मुसलमान काफी ताकतवर माने जाते हैं । जिससे कि आपको मुसलमानों से नुकसान भी हो सकता है ।

मुसलमान को किसी भी तरीके से काबू में नहीं किया जा सकता है । क्योंकि आप कुछ मुसलमानों को यदि काबू में कर भी लेंगे तो प्रत्येक समाज में दो से 5 परसेंट लोग ऐसे होते हैं जिसे काबू में नहीं किया जा सकता है । ठीक उसी तरीके से मुसलमान में भी दो से 5 परसेंट मुसलमान ऐसे होते हैं जिन्हें किसी भी प्रकार से काबू में नहीं किया जा सकता है ।

मुसलमान को काबू में कैसे करें , इसके बारे में सोचना भी नहीं चाहिए । क्योंकि मुसलमान को काबू में करना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन भी है । इस जाति का नाम ही मुसलमान है तो काबू में करने के सपने तो दिन में क्या रात में भी लेने छोड़ दो । मुसलमान को काबू में कोशिश करने की तो मुसलमान काबू में नहीं मुसलमान बेकाबू हो जाएगा ।

मुस्लिम को काबू में कैसे करें

मुस्लिम जाति को काबू में कैसे करें तो आपको बता देते हैं । मुस्लिम क्या यदि आप किसी भी जाति को काबू में करना है तो सबसे पहले आपको उनके साथ प्यार के साथ रहना होगा और अच्छे से बात करनी होगी , तभी आप किसी भी जाति को काबू में रख सकते हो । मुसलमान को काबू में करने के लिए और मुस्लिम को काबू में करने के लिए आपको अपनी औकात को बढ़ाना होगा और अपनी ताकत को बढ़ाना होगा । क्योंकि मुसलमान ताकत और औकात दोनों में बड़ा होता है ।

muslim ko kabu kaise kare

1 . muslim ko kabu kaise karen : मुस्लिम को काबू में करने के लिए आपके पास अच्छा खासा पैसा होना चाहिए और आप अमीर आदमी होने चाहिए तभी आप मुस्लिम को काबू में कर सकते हो।

2 . muslim ko kabu kaise karen : मुस्लिम को काबू में करने के लिए आपके पास औकात होनी चाहिए । छोटे जिगरवाला मुस्लिम को काबू में नहीं कर सकता है । आपके पास जिगर और आपकी औकात होनी चाहिए मुस्लिम को काबू में करने के लिए ।

3 . muslim ko kabu kaise karen : मुस्लिम को काबू करने के लिए आपके पास रुतबा होना चाहिए । यदि आपके पास रुतबा नहीं है तब आप मुस्लिम को काबू में नहीं कर सकते हो ।

4 . muslim ko kabu kaise karen : मुस्लिम को काबू में करने के लिए आपके पास पावर होनी चाहिए । यदि आपके पास पावर नहीं है तब आप कभी भी मुस्लिम को काबू में नहीं कर सकते । तब तक आप मुस्लिम को काबू करने के लिए सपने ही देखते रहो ।

5 . muslim ko kabu kaise karen : मुस्लिम को काबू करना कोई मदारी का खेल नहीं है जो muslim को काबू में कर सकें । muslim ko kabu में करने के लिए जिगर चाहिए और ताकत चाहिए तभी आप मुस्लिम को काबू में कर सकते हो।

सलाम मालिकम कहकर मुसलमान को काबू में कैसे करें ।

सलाम मालिकम कहकर मुसलमान को काबू में कैसे करें । सलाम मालिकम कहकर आप मुसलमान को काबू में कर सकते हो । क्योंकि प्रत्येक मुसलमान दूसरे मुसलमान को सलाम मालिकम कहता है । यदि आप भी दूसरे मुसलमान की तरह सलाम मालिकम कहेंगे तो मुसलमान आपसे नाराज नहीं होगा । इस प्रकार आप मुसलमान का दिल जीत करके मुसलमान को काबू में करें ।

प्यार से बात करके मुसलमान को काबू में कैसे करें ।

प्यार से बात करके मुसलमान को काबू में कैसे करें । आप प्यार से बात करके मुसलमान को काबू में कर सकते हो । यदि आपने अकड़ करके मुसलमान से बात की तो मुसलमान भड़क जाता है और उसको गुस्सा आ जाता है । मुसलमान को काबू में करने के लिए मुसलमान से प्यार से बात करें । प्यार से बात करने पर प्रत्येक मुसलमान मान जाता है और आप से बात करने के लिए भी तैयार हो जाता है और आपकी प्रत्येक बात मान भी जाता है ।

मुसलमान से दुश्मनी की बात ना करें

मुसलमान से दुश्मनी की बात ना करें . यदि आपको मुसलमान को काबू में करना है और आप चाहते हो कि मुसलमान आपके काबू में आ जाए तो आपको कभी भी मुसलमान से दुश्मनी की बात नहीं करना है । क्योंकि मुसलमान दुश्मनी में जान भी दे देता है । इसलिए मुसलमान से कभी भी दुश्मनी ना करें । मुसलमान को काबू में करना है तो प्यार से बात करें । मुसलमान के सामने दुश्मनी का रास्ता बिल्कुल भी ना अपनाएं ।

musalmano ko kaise kabu kare . musalman ko kaise kabu karen

मुसलमानों को काबू में कैसे करें या फिर musalmano ko kaise kabu kare इसके ऊपर शायरियां और status नीचे दी गई है । मुसलमान को काबू में करने की शायरियां पढ़ने के लिए नीचे जाएं ।

1 . शेर और मुसलमान अपनी अकड़ और उसूलों पर जीते हैं । इसलिए मुसलमान को काबू में करने की बात तो छोड़ ही दो ।

2 . अपनी ताकत पर घमंड और कमजोरी पर पर्दा डालना औरो का काम है , भीड़ में भी अकेले खड़े रहे वो सिर्फ मुसलमानों यानी कि मुस्लिमों का काम है।

3 . मुसलमानों का Attitude उस Revolver की तरह है , जिसे देखते ही लोगों की फट जाती है !! । बंदूक की गोली से पंगा ले लेना लेकिन कभी मुसलमान से पंगा मत लेना ।

4 . मुसलमान से दोस्ती कर लो तो जन्नत मिल जाएगी , मगर मुसलमान से दुश्मनी की तो छिपने के लिए पूरी दुनिया कम पड जाएगी ।

5 . मुसलमान बारिश का नाम नही है , जो बरसे व थम जाये, मुसलमान वो सूरज न है जो चमके और डुब जाये, यह नाम है उस साँस का,जो चले तो जिंदगी और थमे तो मौत बन जाये !!

मुसलमानों को कैसे काबू किया जाए । मुस्लिम को कैसे काबू किया जाए ।

मुसलमानों को कैसे काबू किया जाए । मुस्लिम को कैसे काबू किया जाए । मुसलमान को काबू में करने के सपने छोड़ दो । मुसलमान किसी भी तरीके से काबू में नहीं किया जा सकता है । मुसलमान को काबू में करना है तो अपनी औकात में रहो । मुसलमान काबू में करने की चीज नहीं है ।

1 . वो तो महोब्बत करते थे , तुमसे वरना तेरे बाप में भी इतनी हिम्मत नहीं, जो इस मुसलमानों को धोखा दे दे।

2 . जंगल में छाती चौड़ी करके शेर चलता है और इस दुनिया में छाती चौड़ी करके मुसलमान चलता है।

3 . शेर की पूंछ और मुसलमान की टोपी जब हिलती है तो कयामत आ जाती है।

4 . जिस शहर में तुम्हें मकान कम और शमशान ज्यादा मिलें , समझ लेना वहां किसी ने मुसलमान से आँख मिलाने की कोशिश की है ।

5 . बाप के सामने अयाशी और मुसलमान के समने बदमाशी, बेटा भूल कर भी मत करिओ ।
वरना बेटा हम वो #मुसलमान है जो काट करके बाँट दिया करता है ।

मुस्लिम को काबू कैसे करे muslim ko kabu mein kaise karen

मुस्लिमों को काबू में कैसे करें । muslim ko kaise kabu kare . muslim ko kabu mein kaise karen

मुस्लिम को काबू में करने का ख्याल आपको अपने दिल से और दिमाग से निकाल देना चाहिए क्योंकि भारत में सभी को समानता का अधिकार है भारतीय कानून जातिवाद को बढ़ावा नहीं देता है सभी को एक समान मानता है और जाति में भेदभाव नहीं करता है चाहे वह हिंदू जाति हो या फिर मुस्लिम जाती हो ।

1 . मुसलमान आज 100 में है , कल चर्चा हज़ारों में होगी । नाम लोगों के दिल-ओ-दिमाग़ में है ।
कल मुसलमान की फोटो अखबारों में होगी ।

2 . रखते हैं टोपी सिर पर, यारी निभाते हैं जान देकर । ख़ौफ़ खाती है दुनिया हमसे, क्योंकि हम जीते हैं शेरों की दहाड़ लेकर !!

3 . नहीं जरूरत है हमें किसी ढाल की, हम तो मुसलमान है । हमारा तो सीना ही फौलाद है।

4 . दौलत, शोहरत तो हर कोई कमा लेता है , लेकिन मुसलमान वाला रुतबा हर किसी के पास नहीं होता।

जिस प्रकार से हिंदू आजाद होता है कि उसी प्रकार से मुस्लिम भी आजाद है । क्योंकि भारत में जातिवाद को बढ़ावा नहीं दिया जाता है । साथ ही सभी को एक समान अधिकार दिए गए हैं । चाहे वह हिंदू हो या फिर मुसलमान हो । मुसलमान को काबू में करने वाले को औकात में रह करके सर्च करना चाहिए । किसी को भी काबू में करने वाले इस तरह की गतिविधि को नहीं बढ़ाना चाहिए ।

musalman ko kabu kaise karen . musalmanon ko kabu mein kaise karen

मुसलमान भी हिंदू की तरह मनुष्य होता है । जिस तरीके से आज तक हिंदू को कोई काबू में नहीं कर पाया है , उसी प्रकार से मुसलमान को भी कोई काबू में नहीं कर सकता है । हिंदू और मुसलमान दोनों ही आजाद है । मुसलमान को काबू में करने का ख्याल अपने दिमाग से और दिल से निकाल देना चाहिए। मुसलमान ना तो कभी काबू में आया है और ना ही आएगा । मुसलमान को काबू में करने की भुल तो बिल्कुल भी ना करें ।

1 . तेरे जैसे 36 आए और 36 चले गए, लेकिन मुसलमान एक था एक ही रहेगा।

2 . लोग आंधी तूफान से डरते है, मुसलमान जहां कदम रखते है वही तूफान उठ जाते है।

3 . जहां खड़े हो वही गाड़ दूंगा, ज्यादा बोलोगे तो फाड़ दूंगा , मुसलमान हुं में ।

4 . बेटा बात अभी प्यार से निपट रही है निपटा लें, वरना मुसलमान का इतिहास है कि जर, जोरू और जमीन के मामले कटे की धार पर ही सुलटे है।

5 . चाकु की धार और मुसलमान के तेवर कभी कम नहीं होते।

6 . पंगा ले लेना गोली की रफ़्तार से , पर कभी मत टकराना मुसलमान की फौज से !!

7 . हमारे जीने का तरीका थोड़ा अलग है ।
हम मुसलमान है , उमीद पर नहीं अपनी जिद पर जीते है !!

8 . हमसे झुक के बात करने की आदत बना ले बेटा , काफी फायेदे में रहेगा । क्योंकि आज भी मुसलमान से आँखे_मिलाकर के बात करने की Dosto के अलावा किसी और कि औकात नही है।

9 . ताज कि फिकर तो बादशाहों को होती है , हम तो मुसलमान है । मुसलमान अपनी सियासत खुद लेकर चलते हैं ।

10 . हम वो मुसलमान है जो अभी तो मैदान में उतरे भी नहीं, और लोगों ने हमारे चर्चे शुरू कर दिये ।

11 . मुसलमान इतने रोमान्टिक है की हम अगर थोड़ी देर मोबाइल हाथ में लेले तो वो भी गरम हो जाता है ।

मुसलमानों को कैसे काबू किया जाए

कुछ जातियों के दिमाग में मुसलमान खटकता है और वह यह सोचते हैं कि मुसलमानों को कैसे काबू किया जाए । जो मुसलमान को काबू में करना चाहता है उन सभी को बता दो कि मुसलमान को काबू में करने का ख्वाब छोड़ दे मुसलमान आज तक किसी के काबू में नहीं आया । मुसलमान उस साथी का नाम है जिसमें कायर नहीं शेर पैदा होते हैं।

मुसलमान को कैसे काबू में करने की शायरी । मुसलमान को कैसे काबू में किया जाए ।

1 . गब्बर : कितने आदमी थे ?
सांभा : सरदार 2 आदमी थे ।
गब्बर : ओर तुम कितने आदमी थे ?
सांभा : 100 आदमी थे
गब्बर : फिर भी खाली हाथ क्यों आए ?
सांभा : सरदार वो मुसलमान के लड़के थे ।
गब्बर :कही तूने मेरा नाम तो नहीं बताया ।
सांभा : नहीं , पर क्यों सरदार आप तो सरदार हो।
गब्बर : अरे तुम मुसलमान के लड़को को जानते नहीं हो , वो मुसलमान के लड़के चलती गाड़ी का टायर चेंज कर देते हे

2 . शेर कभी छुप कर वार नहीं करते, बुज़दिल कभी खुल कर वार नहीं करते । अरे ! हम तो मुसलमान योद्धा है जो मर कर भी हार स्वीकार नहीं करते !!

3 . किसी ने कहा लोहा हैं हम, किसी ने कहा फौलाद हैं हम, माँ कसम वहा भाग दौड मच गई, जब हमने कहा मुसलमान हैं हम।

4 . कह देना शेरो को मुसलमान आने वाले है
या तो हुकूमत करना या छोड़ दे या फिर जीना।

5 . मुसलमान की स्टाइल और लूक देखकर अच्छे अच्छे डर जाते हैं । क्योंकि #India में #Fogg नहीं मुसलमान का खौफ चलता है!!

6 . मुसलमान की जूती और राजपूत के दुश्मनो में कुछ भी ‪‎फर्क‬ नहीं है ।क्योंकि ‪‎जूती ‬और दुश्मन दोनों मुसलमान के पैरों के नीचे ही रखते हैं।

7 . हम तो अपने दुश्मनों को भी चाहते है
क्योंकि उन्ही के कारण तो #Publicity पाते हैं ।

8 . कहानियां तो छोटे मोटे राजा लोगों की लिखी जाती है, हम तो #मुसलमान है हमारा तो इतिहास लिखा जाएगा ।

9 . हमको मिटा सके ना कोई , ये ज़माने में दम नहीं । क्योंकि ज़माना हम से है , हम ज़माने से नहीं ।।

10 . याद रखना जितनी गहरी #मुसलमान की मोहब्बत होती है, उतनी गहरी दुश्मनी भी होती है।

11 . हम भी उसी रास्ते जाते है , जहाँ हमारादुश्मन हमारा#इंतज़ारकररहाहोता­है । #फर्क सिर्फइतनाहै की , शुरुवातवोकरतेहै #और_खतम हम करते है।

musalman ko kabu kaise kare मुसलमान को काबू में कैसे करें

धार्मिक बाते करके मुसलमान को काबू में कैसे करें

muslim ko kaise kabu karen : मुसलमान को काबू में करने के लिए आपको इस्लाम धर्म से जुड़ी हुई धार्मिक बातें करनी होगी क्योंकि मुसलमान इस्लाम धर्म में विश्वास करता है यदि आप उनसे इस्लाम धर्म से जुड़ी हुई बातें करेंगे और उनको इस्लाम धर्म से जुड़ी हुई कुछ बातें बताएंगे पूछेंगे तो मुसलमान को आप काबू में कर सकते हो ।

मुसलमान को सम्मान देकर मुसलमान को काबू में कैसे करें

muslim ko kaise kabu karen : यदि आपको किसी मुसलमान को काबू में करना है तब आपको उस मुसलमान को इज्जत और सम्मान देना होगा क्योंकि यदि आप मुसलमान से अकड़ कर बात करोगे तो वह काबू में नहीं होगा बल्कि भड़क जाएगा और आप उससे बेकार में ही दुश्मनी मोल ले लोगे इसलिए यदि आपको मुसलमान को वश में करना है और काबू में करना है तब आपको मुसलमान को इज्जत देना होगा ।

शुद्धता रखे करके मुसलमान को काबू में कैसे करें

muslim ko kaise kabu karen : मुसलमान साफ सफाई का विशेष रूप से ध्यान रखते हैं मुसलमान चाहे कितना भी गरीब क्यों ना हो वह साधु लावा कपड़ा पहनता है और अपने शरीर की पूरी तरीके से सफाई रखता है और शुद्धता का पूरी तरीके से ध्यान रखता है यदि आप शुद्धता का पूरी तरीके से ध्यान रखते हो और साफ-सुथरे और अच्छे कपड़े पहनते हो तो आप मुसलमान को काबू में कर सकते हो ।

अच्छी बाते करके मुसलमान को काबू में कैसे करें

muslim ko kaise kabu karen : मुसलमान को काबू में करने के लिए मुसलमान से सही तरीके से और अच्छी तरीके से बात करना होगा यदि आप मुसलमान से ऊंची आवाज में बात करते हो और तू तड़ाक ऐसे बात करते हो आप शब्द का प्रयोग करते हो तो मुसलमान आपकी कभी भी काबू में नहीं होगा बल्कि आप पर गुस्सा करेगा और यदि आप उनसे प्यार से बात करोगे मुसलमान को इज्जत दोगे और मीठी मीठी बात करोगे तो मुसलमान आपके काबू में आ जायेगा

ज्ञान की बात करके मुसलमान को काबू में कैसे करें

muslim ko kaise kabu karen : इस्लाम धर्म से जुड़ी हुई ज्ञान की बातें करके आप मुसलमान को काबू में कर सकते हो इसके अलावा मुसलमान जाति से जुड़ी हुई बातें करके भी आप मुसलमान को अपने काबू में कर सकते हो आप उनको उन्हीं के समाज परिवार और धर्म से जुड़ी हुई बातें करके भी मुसलमान को काबू में कर सकते हो ।

मीठी वाणी बोले करके मुसलमान को काबू में कैसे करें

मुसलमान को काबू में कैसे करें – यदि आप किसी मुसलमान से मीठी-मीठी बातें करते हो मीठे मीठे धर्म से जुड़ी हुई और ज्ञान की बातें करते हो तो मुसलमान आपके काबू में आ सकता है क्योंकि मुसलमान को जो भी तेरी इज्जत देता है मीठी बातें करता है प्यार भरी बातें करता है और सलाम ठोकता है मुसलमानों उसके काबू में आ जाता है ।

मियां भाई को काबू में कैसे करें

Miya Bhai Ko Kabu Kaise Kare {अपनी औकात में रहकर सर्च करें} मिया को कैसे काबू में करें । मियां भाई को काबू में कैसे किया जाए? मियां भाई को काबू में कैसे करें – अपनी औकात में रहकर सर्च करें । औकात में रहकर सर्च करो क्योंकि मियां भाई को काबू में नहीं किया जा सकता है । मियां भाई मुसलमान भाई होता है तो इनको तो काबू में करना सपने के जैसा होता है। मियां भाई यानी कि मुसलमान भाई को सलाम मालिकम कह कर के काबू में कर सकते हो ।