नंगे पैर जलते हुए अंगारों पर चलना । दहकते अंगारों पर नंगे पैर चलना

नंगे पैर जलते हुए अंगारों पर चलना । दहकते अंगारों पर नंगे पैर चलना

नंगे पैर जलते हुए अंगारों पर चलना । दहकते अंगारों पर नंगे पैर चलना nange pair jalate hue angaaron par chalana आपने बहुत सारे ऐसे लोगों को देखा होगा जो कि जलते हुए अंगारों पर चलते हैं । आपके दिमाग में भी यह ख्याल आया होगा कि आखिरकार यह जलते हुए अंगारे पर चल कैसे पाते हैं । इसके पीछे क्या कारण हो सकता है ।

जलते हुए अंगारों पर चलना कोई बड़ी बात नहीं है इसमें भी विज्ञान छिपा हुआ है । यदि आप चाहे तो आप भी जलते हुए अंगारों पर चल सकते हैं । बेशक आपको विज्ञान का ज्ञान होना जरूरी है तभी आप ऐसा कर पाएंगे ।

यदि आप विज्ञान के नियमों को नहीं समझते हैं तथा उसका पालन नहीं करते हैं तो आप अंगारों पर नहीं चल पाएंगे और आपको नुकसान भी हो सकता है । यह प्रयोग घर पर करने की कोशिश ना करें ।

दहकते अंगारों पर नंगे पैर चलना

इसको समझने के लिए हमें एक उदाहरण लेते हैं । जब हम किसी खाली गुब्बारे को आग के पास ले जाते हैं तो गुब्बारा फट जाता है और यदि उसी गुब्बारे में हम पानी भर के आग के पास ले जाते हैं तो गुब्बारा फटता नहीं है ।

कारण यह है कि आग की उष्मा को गुब्बारे के अंदर भरा हुआ पानी अवशोषित कर लेता है । जिससे कि गुबारा नहीं फटता है । कुछ समय बाद ही गुबारा फटता है ।

ठीक उसी प्रकार हमारे शरीर का 70% हिस्सा पानी का होता है और जब हम अंगारों पर चलते हैं तब अंगारों की उष्मा को पानी और सूचित कर लेता है । और त्वचा नहीं जलेगी ।

अध्यन से पाया कि हमारे पैर 1 सेकंड से ज्यादा अंगारे पर नहीं टिकने चाहिए । उसके बाद में वह जलने लगते हैं ।

यानी कि आप 1 सेकेंड से भी कम समय में अपने पैर को अंगारों पर से हटा लेते हैं तो आपके पैर नहीं जलते हैं ।

अब आप जब भी किसी व्यक्ति को अंगारे पर चलता हुआ देखें तो हैरान मत होइए । यही विज्ञान छुपा है अंगारों पर चलने के पीछे ।