पार्ले जी (पारले जी) बिस्किट सफलता की कहानी में हिंदी |

पार्ले जी (पारले जी) बिस्किट सफलता की कहानी में हिंदी |

पारले जी बिस्कुट को कौन नहीं जानता पारले जी बिस्किट का नाम पूरे देश में हर कोई बच्चा जानता है बच्चे के साथ-साथ बड़े तथा बुजुर्ग लोग भी parle-g बिस्किट के सफलता की कहानी बारे में जानते हैं |

पारले जी बिस्किट एक बहुत ही पुराना ब्रांड है | यह पारले जी कंपनी द्वारा बनाया गया ब्रांड है | इंडिया में बहुत ही फेमस तथा पॉपुलर बिस्किट माना जाता है तथा इसकी sale की बात की जाए तो यह इंडिया में सबसे ज्यादा sale होने वाले बिस्किट में गिना जाता है |

पारले जी कंपनी के इतिहास के बारे में बात करें तो यह अंग्रेजों के शासन काल में स्थापित हुई थी यानी कि पारले जी कंपनी की स्थापना अंग्रेजों के शासनकाल में हुई थी | जब ब्रिटिश सरकार का हमारे इंडिया पर शासन चलता था |

भारत के प्रमुख आपातकालीन (इमरजेंसी) हेल्पलाइन नंबरों की सूची….

समय इसकी स्थापना हुई थी इसकी स्थापना की बात की जाए तो यह 1929 में शुरू हुई थी | जबकि उन्होंने बिस्किट बनाने की प्रक्रिया 1939 में शुरू की थी और इसकी स्थापना 1939 से ही बिस्किट बनाने वाली कंपनी के नाम से जाना जाने लगा |

पारले जी कंपनी की स्थापना मुंबई में रहने वाले एक चौहान परिवार के द्वारा की गई थी जब इंडिया ब्रिटिश सरकार के अधीन था |

पार्ले जी आज इतना बड़ा ब्रांड बन गया है कि यह इंडिया के एक छोटी से छोटी दुकान पर मिल जाता है यानी कि इसका बिस्किट हर छोटी से छोटी दुकान पर मिल जाता है | चाय वाले के ठेले से लेकर थड़ी वाले तक parle-g बिस्किट मिल जाता है | अब आप ही अंदाजा लगा सकते हैं कि यह कितना पॉपुलर तथा कितना जाना पहचाना ब्रांड है |

पेट की गैस भगाने का सबसे सरल और सस्ता उपाय….

पारले जी बिस्किट की प्राइस की बात की जाए तो यह आपको ₹5 में ही मिल जाता है | ₹5 से लेकर के यह ब्रांड आपको ₹200 तक मिल जाता है

पारले जी कंपनी का जो बिस्किट है पारले जी यह सबसे छोटे से छोटा ₹5 में आपको मार्केट पर किसी भी दुकान पर आसानी से मिल जाता है | इसके बड़े पैकेट की बीएफ बात की जाए तो यह 1 किलो तक का होता है | मार्केट में आपको 1 किलो का पारले जी का बड़ा बिस्किट का पैकेट भी मिल जाएगा जो कि बहुत ही कम प्राइस में होगा |