पशु जुगाली ( jugali ) क्यों करते हैं ? जानवर जुगाली क्यों करते हैं ? Pashu ya janwar jugali kyon karte hain

Why do animals ruminate? आपने बहुत सारे जानवरों को देखा होगा जो खाना खाने के बाद में अपने मुंह को हिलाते रहते हैं | यानी कि वह jugali करते रहते हैं | इसके पीछे क्या कारण है | पशु jugali क्यों करते हैं | आज हम आपको बताएंगे | jugali करने के पीछे क्या राज छुपा हुआ है |

चबा चबा करके खाना अच्छी बात है | लेकिन गाय इस आदत को पूरी शिद्दत से निभाती है | थोड़ा खाने को चबा चबा कर के खाती है |
गाय के अलावा भी बहुत सारे जानवर है जो कि अपने भोजन को खाने के बाद में jugali करते हैं | जैसे की भैंस , बकरी बहुत सारे ऐसे जीव है जो jugali करते हैं |

गाय अपनी जुबान को बाएं से दाएं 1 मिनट में 50 बार पीसती है | यानी कि 1 दिन में 40000 बार अपने दांतो को पीसती है |

गाय 1 साल में अपने दांतो को 1400000 बार पीसती है |

गाय घास से दूध कैसे बनाती है ? Gay ghas se dudh kaise banati hai

How does a cow make milk from grass? गाय के पेट में बहुत छोटे-छोटे माइक्रो बग की हजारों प्रजातियां होती हैं | यह घास को ब्रेकडाउन करने का काम करती है |

जब गाय पहली बार घास को खाती है | तब वह इसके लायक नहीं होता है कि इसके पेट में मौजूद छोटे-छोटे माइक्रो बग इस घास को ब्रेकडाउन कर सके | गाय इस माइक्रो बग की हेल्प करने के लिए इस घास को बार-बार चबाती है तथा निगलती है | इस प्रक्रिया को लगातार करती रहती है | यह प्रक्रिया तब तक चलती रहती है | जब तक कि घास के कण बहुत छोटे-छोटे नहीं हो जाते हैं |

गाय पेट में से घास को मुंह में कैसे लगती है? Gay pet mein se gas ko munh mein kaise leti hai

How does the cow get the grass from the stomach into the mouth? गाय बार-बार इस घास को अपने मुंह में लेने के लिए डकार मारती है | तथा घास को अपने मुंह में लाती है | डकार लेने से घास पेट से मुंह में आ जाता है | तथा वह है इसे चबाने का काम करती है |

गाय अपने घास को दिन में 8 घंटे तक लगातार अपने दांतो से पीस करके उसे एक मलबे में बदल देती है | जब घास के यह कण बहुत छोटे छोटे हो जाते हैं | तब यह गाय के भारी भरकम पेट के निचली सतह पर चले जाते हैं |

पेट की निचली सतह पर यह छोटे-छोटे माइक्रो बग जीवाणु होते हैं , जो कि अपना काम करते रहते हैं | इन माइक्रो बग का काम होता है , घास के इन छोटे-छोटे टुकड़ों को खाना |

यहां पर उपस्थित लाखों-करोड़ों बैक्टीरिया कार्बोहाइड्रेट से युक्त घास को खाते हैं | यह बैक्टीरिया घास के इन टुकड़ों को खाकर के फैटी एसिड मैं बदल देते हैं | गाय के पेट में मौजूद मसल्स इस फैटी एसिड को सोख लेते हैं तथा इस फैटी एसिड की मदद से ही दूध बनता है |

फैटी एसिड की वजह से ही दूध का रंग सफेद होता है|

गाय पाद क्यों मारती है ? Gay pad kyon Marti hai

Why does the cow kick? जब गाय के पेट में फैटी एसिड बनता है तब इसी प्रक्रिया के दौरान गाय के पेट में एक गैस भी बनती है , इसका नाम है मिथेन | इस प्रक्रिया में बहुत सारी मिथेन गैस का निर्माण गाय के पेट में होता है | इस गैस को गाय पाद के रूप में बाहर निकालती है |

पशु इंसानों के मुकाबले 200 गुना ज्यादा गैस बनाते हैं |

गाय के दूध में प्रोटीन का निर्माण कैसे होता है ? Gay ke dudh mein protein ka nirman kaise hota hai

How is protein made in cow’s milk?गाय को दूध बनाने के लिए एक और चीज की जरूरत पड़ती है | जिसका नाम है प्रोटीन | बिना इन माइक्रोब्स की मदद से गाय दूध नहीं बना पाती है | इसके लिए यह माइक्रोब्स ही जिम्मेदार होते हैं |


गाय को प्रोटीन बनाने के लिए प्रोटोजोआ से मदद मिलती है | खुली आंखों से दिखाई देने वाले यह प्रोटोजोआ जब मरते हैं | तब गाय का पेट इन्हें अवशोषित कर लेता है | क्योंकि प्रोटोजोआ का शरीर प्रोटीन से बना होता है | वह इस प्रोटीन का उपयोग दूध बनाने के लिए करती है | इस प्रकार गाय के दूध में प्रोटीन का निर्माण होता है |

गाय के दूध में कुछ बैक्टीरिया दूदू तथा कुछ बूढ़े मरे हुए जीवाणु होते हैं |

गाय दूध कैसे बनाती है
दूध का रंग सफेद क्यों होता है
गाय पाद क्यों मारती है

Gest Post , Backlink Exchange और sponsorship के लिए हमें नीचे दी गई Email Id पर contact करें। calltohelps@gmail.com