promoter ka kya kam hota hai एक प्रमोटर का क्या काम होता है? promoter meaning in hindi

किसी कंपनी में प्रमोटर का मुख्य रोल होता है। प्रमोटर क्या होता है?

Promote परिभाषा और अर्थ | Promote का हिन्दी अनुवाद | Promote meaning in Hindi .Promote meaning in Hindi .Definition of promote .

promoter का अर्थ- किसी भी कंपनी के लिए पर मोटर की भागीदारी सबसे अहम होती है। एक तरह से देखा जाए तो कंपनी की सेल में इनक्रीस करना। कंपनी के प्रति लोगों में सकारात्मक भावनाओं का पैदा करना। फॉर मोटर की अहम भूमिका हो सकती है। एक प्रेमोटर का क्या काम होता है।

यदि एक परमोटर किसी भी कंपनी के लिए सकारात्मक तथा सही तरीके से काम करें तो उस कंपनी को आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता है। क्योंकि प्रमोटर लोगों के बीच में कन्वेंस करने का काम करता है तथा लोगों को कंपनी के साथ जोड़ने का काम भी करता है।

वह लोगों को कंपनी की तरफ आकर्षित करता है। बता कंपनी के प्रोडक्ट को प्रचलित करने की गुजारिश भी करता है। इससे कंपनी की सेल में बढ़ोतरी होती है तथा कंपनी को मुनाफा होता है।

एक प्रमोटर का क्या काम हो सकते हैं।

  • एक पर मोटर का काम होता है वह कंपनी के प्रति लोगों में सकारात्मक भावनाएं पैदा करें।
  • कंपनी के प्रोडक्ट को बेचकर उसकी सेल सेल उसकी सेल को बढ़ाएं।
  • लोगों से बातचीत करके कंपनी का प्रचार करें।
  • उस कंपनी के प्रोडक्ट के बारे में तथा कंपनी के बारे में लोगों को समझाए।

प्रमोटर की सैलरी कितनी होती है।

सामान्य तौर पर आप किसी भी कंपनी में काम कर लो। किसी भी पर मोटर की सैलरी 10000 से 12000 की होती है। इससे ज्यादा सैलरी पर मोटर में आपको बहुत ही कम कंपनियों में मिलती है।

यदि कोई कंपनी इससे ज्यादा सैलरी देती है तो वह लास्ट 15000 तक की सैलरी ही दे पाएगी। इससे ज्यादा सैलरी कोई भी कंपनी किसी भी पर मोटर को नहीं देती है। हां यह एक अलग बात है कि कंपनी अपना एक इंसेंटिव प्रोग्राम भी रखती है।

उसके अंतर्गत वह अच्छी मेहनत करके अच्छा पैसा कमा सकता है। क्योंकि कंपनी का इंसेंटिव बहुत ही अच्छा आता है और पर मोटर को काफी अच्छा बेनिफिट हो जाता है। इससे उसकी सैलरी में भी काफी इंक्रीजमेंट हो जाता है।

प्रमोटर कितने घंटे काम करता है।

सामान्य तौर पर प्रत्येक कंपनी में एक प्रमोटर की ड्यूटी 8 से 9 घंटे तक घंटे तक ड्यूटी 8 से 9 घंटे तक की होती है। और कुछ कंपनियों में 9 से 10 घंटे तक की ड्यूटी भी हो जाती है। यह हर कंपनी का अलग-अलग अपना अपना अपना रूल्स होता है।

इस रूल्स के हिसाब से कंपनी पर मोटर को रखती है. तथा उसी के हिसाब से उसको सैलरी भी दे देती है। सब कंपनियों में यह रूल्स अलग-अलग होते हैं। हर कंपनियों में एक जैसे रूल्स नहीं होते हैं।

प्रमोटर अलग अलग तरीके के होते हैं। यह कंपनी पर डिपेंड करता है कि कंपनी जब आपको जॉब के लिए हायर करती है। तब किस काम के लिए हायर करती है। कुछ कंपनियां मार्केटिंग के लिए प्रमोट करती है जो कि मार्केट में काम करती है वह बड़े-बड़े दुकानों पर मॉल के अंदर जाकर अपना एडवर्टाइजमेंट पर मोटर के माध्यम से करवाती है

यह सब कंपनी पर डिपेंड करता है कि वह किस तरह के प्रमोटर चाहती है। जो प्रमोटर शॉप पर या फिर दुकान पर रहकर एडवर्टाइजमेंट करते हैं। वह पर मोटर अलग होते हैं। और जो मार्केट में रहकर ब्रांड का प्रचार करते हैं। वह प्रमोटर अलग होते हैं। पर दोनों होते पर मोटर ही है. पर दोनों की केटेगरी अलग हो जाती है।

प्रमोटर की जॉब कहां से मिलेगी।


सेल्स प्रमोटर मार्केट में ऐसी बहुत सारी कंपनियां हैं जो पर मोटर की जॉब के लिए प्रमोटर हायर करती है। पर बात यह है कि इन सब के बारे में पता नहीं होता है। जैसे कि वोडाफोन, एयरटेल, आइडिया, जिओ जैसी कंपनियां मार्केटिंग परपज के लिए पर प्रमोटर को रखती है।

कुछ बड़ी कंपनियां जैसे कि कि हिंदुस्तान युनिलीवर, पीएनजी, हिमालय जैसी कंपनियां जनरल ट्रेड के लिए प्रमोटर हायर करती है। जो कि जनरल ट्रेड के बड़े मॉल या फिर दुकानों पर रहकर कंपनी का प्रचार तथा सेल दोनों करते हैं |

प्रमोटर का काम क्या होता है WHY PUT COMPANY PROMOTER

प्रमोटर का मतलब होता है किसी भी कंपनी के ब्रांड का तथा उस कंपनी का प्रमोशन करना यानी कि उस कंपनी के बारे में लोगों को बताना यहीं promoter का मेन काम होता है
इसके साथ ही प्रमोटर का एक और काम होता है कि कंपनी का जो भी प्रोडक्ट है उसकी सेल को बढ़ाया जाए इसी उद्देश्य से कोई भी कंपनी एक प्रमोटर को हायर करती है

प्रमोटर कितने प्रकार का होता है ?

प्रमोटर ऐसे देखा जाए तो 3 प्रकार का होता है। 1 पहला प्रमोटर वह होता है जिसमें कंपनी अपने ब्रांड तथा कंपनी का प्रमोशन तथा उसकी सेल बढ़ाने के लिए प्रमोटर को हायर करती है इसमें कंपनी का मेन टारगेट उस प्रोडक्ट की सेल होता है वह चाहती है कि प्रोडक्ट ज्यादा से ज्यादा मार्केट में बीके तथा उसका ज्यादा से ज्यादा प्रचार-प्रसार हो। प्रमोटर की सैलरी कितनी होती है।
कुछ कंपनियां जो कि इस तरह के प्रमोटर को हायर करती है उसके नाम नीचे दिए गए हैं
1 Catch masala
2 Tata masala
3 Born vita
4 Everest masala
5 Saffola oil
6 Organic Good Brand
7 Oats

2 दूसरे प्रकार का प्रमोटर वह प्रमोटर होता है जिसमें किसी भी कंपनी का नाम मार्केट में पहले से ही होता है यानी कि वह कंपनी जानी पहचानी तथा बहुत बड़ी होती है। लेकिन कंपनी उसके प्रोडक्ट की देखभाल के लिए तथा रखरखाव के लिए प्रमोटर को रखती है ताकि वह प्रमोटर उस ब्रांड की अच्छे से देखभाल करें तथा नियमित रूप से उस माल को सही से डिस्प्ले कर सके
प्रमोटर की जॉब कहां से मिलेगी।……..

कुछ कंपनियां जो कि इस तरह के प्रमोटर को हायर करती है उसके नाम नीचे दिए गए हैं

1 Parle G Biscuits
2 Britinia Biscuits
3 ITC Biscuits
4 HUL ( Hindustan Unilever)
5 PNG

3 तीसरा प्रमोटर वह प्रमोटर होता है जिसमें कोई भी कंपनी अपने प्रोडक्ट को कस्टमर के सामने सैंपल के रूप में रखती है तथा उसके प्रचार-प्रसार के लिए प्रमोटर को रखती है। यानी कि कंपनी अपने प्रोडक्ट का टेस्ट कस्टमर के साथ करवा कर के कस्टमर को जोड़ने के लिए ऐसा करती है उस कंपनी के जो भी प्रोडक्ट है उसका कस्टमर के साथ सैंपल करवाता है इसके लिए कंपनी उसे हायर करती है
कुछ कंपनियां जो कि इस तरह के प्रमोटर को higher करती है उसके नाम नीचे दिए गए हैं
1 एपीगामिया
2 ग्रीन टी
3 फन फूड( fun food)
4 veeba
5 coffee
6 Yakult

4 thoughts on “promoter ka kya kam hota hai एक प्रमोटर का क्या काम होता है? promoter meaning in hindi”

  1. Pingback: पार्ट टाइम जॉब » CASEEARN.COM

  2. Pingback: COMPANY PROMOTER क्यू रखती है प्रमोटर कितने प्रकार का होता है

Comments are closed.

Gest Post , Backlink Exchange और sponsorship के लिए हमें नीचे दी गई Email Id पर contact करें। calltohelps@gmail.com