रानी रंगीली का जीवन परिचय । रानी रंगीली का इंटरव्यू ।Rani Rangili biography

रानी रंगीली का एड्रेस रानी रंगीली का गांव कौन सा है ?

आज हम रानी रंगीली के जीवन के परिचय के बारे में विस्तार से जानेंगे कि रानी रंगीली ने अपने जीवन में किस प्रकार से संघर्ष किया । Rani Rangili biography

रानी रंगीली कौन है ? रानी रंगीली क्या करती है ?

रानी रंगीली राजस्थान की सुपरस्टार गायिका तथा नृत्यांगना है । यह राजस्थानी गाने बनाती है और इनके लगभग सभी गाने सुपरहिट हुए हैं । यह अपने सारे गाने राजस्थानी में बनाती है । इनका कोई सा भी गाना उठा लो हमेशा सुपर डुपर हिट हुआ है । रानी रंगीली को पूरे राजस्थान की स्टार गायिका भी कहा जाता है ।

रानी रंगीली का बचपन ?

रानी रंगीली का बचपन बहुत ही संघर्षपूर्ण गुजरा । क्योंकि रानी रंगीली एक गरीब परिवार से थी । उनके पास इतने पैसे नहीं थे कि वह यह सब कुछ कर सके । उन्होंने पैसे कमाने के लिए इस लाइन को ज्वाइन किया और वह आज इस स्तर तक पहुंच चुकी है । वह आज राजस्थान की एक सुपरस्टार गायिका के नाम से भी जानी जाती है ।

रानी रंगीली ने अपने जीवन में काफी संघर्ष किया है । उन्होंने काफी गरीबी देखी है । क्योंकि वह खुद एक गरीब परिवार से हैं तो वह समझ सकती है कि गरीबी क्या होती है ।

जाने रणथंभौर किले के बारे में रोचक तथ्य

जानिए क्या है पितृपक्ष और क्यों किया जाता है श्राद्ध ?

सीता माता का जन्म कैसे हुआ ? सीता जी के पिता कौन थे

सूर्य के पुत्र और यम के भाई हैं शन‍ि, क्‍यों रहते हैं पिता से नाराज

रानी रंगीली का गांव कौन सा है ?

रानी रंगीली का प्रॉपर गांव सूरजपुरा है । रानी रंगीली की यह जन्म भूमि है । यानी की रानी रंगीली का जन्म सूरजपुरा में हुआ था ।

रानी रंगीली का यह गांव अजमेर जिले के भीम के पास में पड़ता है । यानी की रानी रंगीली का गांव अजमेर जिले में स्थित है ।

रानी रंगीली का बचपन मारवाड़ की ढूंढा गांव में बीता है । उन्होंने वहीं पर अपना बचपन बिताया है । वहां पर रानी रंगीली पली तथा बड़ी हुई है ।

रानी रंगीली ने संगीत को क्यों चुना ?

रानी रंगीली के परिवार में कोई संगीतज्ञ नहीं था । उनकी आर्थिक स्थिति बहुत ज्यादा खराब थी ।इस कारण से वह इस क्षेत्र में आई । वैसे उनके दादाजी थोड़ा बहुत साहित्य पाठ करते थे ।

रानी रंगीली के परिवार का नृत्य तथा संगीत से कोई लिंक नहीं था । वह तो गरीबी के कारण इस लाइन में उतर गई और वह आज एक स्टार के रूप में उभरकर के सामने आई है ।

रानी रंगीली का सबसे पहला प्रोग्राम कौन सा है ?

रानी रंगीली ने अपना सबसे पहला प्रोग्राम शाहपुरा मैं किया था । वहां पर उनकी मुलाकात गोपाल जी नाम के एक व्यक्ति से हुई । वहां से ही इनकी शुरुआत हुई ।

गोपाल जी ने रानी रंगीली को एल्बम में आने का मौका दिया और वह एल्बम बहुत चला और सुपर हिट हो गया ।

रानी रंगीली को किस सॉन्ग से पूरे भारत में पहचान मिली ?

रानी रंगीली को पूरे भारत में सबसे पहले पीली लुगड़ी नाम के एक सॉन्ग से पहचान मिली । यह गाना बहुत ही पॉपुलर हुआ और इससे रानी रंगीली को लोग जानने लगे ।

पीली लुगड़ी लांबो घूंघट यह गाना रानी रंगीली ने रामदेव जी के ऊपर गया था । जो कि राजस्थान के लोक देवता हैं । उनके ऊपर उन्होंने यह सॉन्ग गाया था

इसी एल्बम के बाद से रानी रंगीली नृत्यांगना तथा गायिका के रूप में पूरे भारत में उभरकर के सामने आई और उन्होंने अपनी एक पहचान बना ली ।

लंकिनी कौन थी Who was lankini

रावण अमर कैसे हुआ ? रावण की नाभि में अमृत कैसे स्थापित किया गया ?

बाली तथा सुग्रीव का जन्म कैसे हुआ ?

संजीवनी बूटी की उत्पत्ति कैसे हुई थी

रानी रंगीली के पॉपुलर सॉन्ग कौन-कौन से हैं ?

रानी रंगीली के दो शुरुआती सॉन्ग नाग लपेटा लेवे तथा लीलन सिंगारे है । इसी से इन्हीं को सबसे ज्यादा पहचान मिली और नृत्यांगना था तथा गायिका के रूप में पहचानी जाने लगी । यह इनके दो सबसे पॉपुलर सॉन्ग रहे हैं ।

रानी रंगीली के फोलोवर कितने हैं ?

रानी रंगीली के चाहने वालों की कोई कमी नहीं है । उनके सोशल मीडिया की बात करें तो रानी रंगीली से डायरेक्ट 30 से 40 लाख लोग उनसे जुड़े हुए हैं ।

लोग रानी रंगीली के गाने को बहुत ज्यादा ही पसंद करते हैं तथा उनके गानों को बहुत ज्यादा प्यार देते हैं ।


रानी रंगीली अपने कार्यक्रम कहां-कहां करती है ?

रानी रंगीली के कार्यक्रम पूरे भारत में होते हैं । रानी रंगीली विदेशों में कार्यक्रम अभी तक नहीं करती है । भारत के प्रत्येक राज्य में इनाके कार्यक्रम होते रहते हैं ।

राज रायला स्टूडियो में लीलन सिंगारे सॉन्ग

रानी रंगीली ने राज रायला स्टूडियो में एक सॉन्ग गया था जो कि रानी रंगीली ने तथा उसकी बहन रेखा ने मिलकर के बनाया था । वह गाना बहुत ही पॉपुलर हुआ । रानी रंगीली का लीलन सिंगारे वाला गाना बहुत ज्यादा चला । लोगों ने इस गाने को बहुत प्यार दिया ।

रानी रंगीली ने लीलन सिंगारे सॉन्ग तेजाजी महाराज के ऊपर गया था । जो कि राजस्थान के लोक देवता के रूप में विख्यात है । उनका कहना है कि तेजाजी महाराज की कृपा से उनका यह सॉन्ग काफी चला और वह काफी फेमस भि हुआ ।

रानी रंगीली कौन से देवता को सबसे अधिक मानती है ?

रानी रंगीली ने अपने इंटरव्यू में बताया कि वह देवनारायण भगवान को सबसे अधिक मानती है । उनका कहना है कि देवनारायण भगवान की कृपा से उनके सभी गाने सुपरहिट वह हैं ।

रानी रंगीली की क्या जाती है ?

रानी रंगीली हिंदू समाज से बिलॉन्ग करती है । वह हिंदू समाज को अपना समाज मानती है ।

रानी रंगीली का कहना है कि यदि कोई समाज में रानी रंगीली बनना चाहे , चाहे वह लड़का हो या लड़की हो । उसे समाज सपोर्ट करें और उन्हें आगे बढ़ने के अवसर प्रदान करें ।

उनके अनुसार यदि किसी व्यक्ति में कला तथा हुनर है तो समाज उन्हें सपोर्ट करें । क्योंकि हम समाज के खिलाफ जाकर के कोई भी काम नहीं कर सकते हैं ।

जब तक समाज सपोर्ट नहीं करेगा वह व्यक्ति आगे नहीं बढ़ पाएगा । उन्हें आगे बढ़ने के लिए समाज की सपोर्ट की जरूरत होती है ।

उनका कहना है कि इंसान चाहे किसी भी समाज में रहे जातिवाद बिल्कुल भी ना करें । रानी रंगीली जातिवाद के खिलाफ है ।

रानी रंगीली के लिए संगीत ही सब कुछ है ।

रानी रंगीली मानती है कि मेरे जीवन की शुरुआत संगीत से हुई है तो इसका अंत भी संगीत से ही होना चाहिए । उनका संगीत से बहुत ज्यादा ही लगाव तथा जुड़ाव है और उन्हें संगीत से ही एक पहचान मिली है ।

रानी रंगीली का सपना क्या है ?

रानी रंगीली का रानी महल तैयार हो रहा है । उसमें वह लोगों को संगीत तथा नृत्य की शिक्षा प्रदान करेगी वह एक संगीत अकैडमी खोलना चाहती है ।

क्या भविष्य में रानी रंगीली राजनीति में आएगी ?

एक इंटरव्यू में रानी रंगीली ने खुद ने बताया कि वह भविष्य में राजनीति में आएगी और वह राजनीति ज्वाइन करके समाज की सेवा करना चाहती है ।

वह राजनीति में आकर के समाज की सेवा तथा लोगों की भलाई करना चाहती है और देश में फैली गंदगी को दूर करना चाहती है ।

रानी रंगीली को एक बार चित्तौड़गढ़ जिले से एमएलए की पोस्ट के लिए कॉल भी आया था । लेकिन उन्होंने मना कर दिया था । क्योंकि उनका कहना है कि वह अभी इसके लिए तैयार नहीं है तथा ना हि अभी उनकी उम्र है ।

ओरिजिनल सांडे का तेल कैसे बनता है । सांडे के तेल का उपयोग कब किया जाता है ?

विटामिन ई कैप्सूल खाने के फायदे और नुकसान विटामिन ई कैप्सूल बालों में कैसे लगाएं

सेहत का साथी है आलू के बारे में जानकारी आलू का वैज्ञानिक नाम क्या है

पेट के बल सोना सही है या गलत? पेट के बल सोने से होंगे ये 8 नुकसान

केला खाने का सही समय कौन सा होता है । केला कब खाना चाहिए ।

Acidity In Hindi एसिडिटी का आयुर्वेदिक उपचार