बिच्छू के बारे में रोचक तथ्य

बिच्छू के बारे में रोचक तथ्य

बिच्छू के बारे में रोचक तथ्य

बिच्छू दिन में भूरे या फिर ब्लैक दिखते हैं | लेकिन चांद की रोशनी मिलते ही बिच्छू चमकने लग जाते हैं | आज हम जानेंगे कि बिच्छू रात में क्यों चमकते हैं | इसके पीछे भी एक वैज्ञानिक कारण छुपा हुआ है|

बिच्छू की 160 प्रजातियां साउथ अफ्रीका में पाई जाती है जो सिर्फ रात में ही बाहर निकलती है |

बिच्छू अपने जीवनसाथी को मार देते हैं यानी कि यह एक दूसरे को मार देते हैं |

बिच्छू की नजर बहुत ही कमजोर होती है |

बिच्छू अल्ट्रावायलेट किरणों की वजह से धुंधले चमकते हुए दिखाई देते हैं |

बिच्छू के बारे में रोचक तथ्य

शाम के समय तथा रात में बिच्छू चमकते हैं | इस समय अल्ट्रावॉयलेट रेडिएशन की किरणें बहुत तेज होती है | बिच्छू की त्वचा इस रेडिएशन किरणों को अवशोषित करती है | किसकी वजह से बिच्छू चमकता है | हम अल्ट्रावायलेट किरण को नहीं देख सकते हैं | जितनी ज्यादा अल्ट्रावायलेट किरण होगी उतना ज्यादा बिच्छू तेज चमकेगा |

बिच्छू के चमकने से उसका क्या फायदा हो सकता है |


इसके चमकने से इन्हें 3 फायदे होंगे |


यह इनके जीवन साथी ढूंढने का अच्छा संकेत हो सकता है | जब चांद की रोशनी में यह चमकते हैं | तब यह ऐलान करते हैं कि उनका अभी तक कोई जीवनसाथी नहीं है | यानी कि वह अभी तक सिंगल है |

इसका दूसरा फायदा यह है कि जब यह चमकते हैं तो दूसरे कीड़े मकोड़े इनकी तरफ आकर्षित होते हैं और वह इनका शिकार कर लेते हैं | जिससे कि इनको खाना मिल जाता है तथा इनका पेट भर जाता है |

बिच्छू के बारे में रोचक तथ्य

बिच्छू अल्ट्रावायलेट किरण को देख सकते हैं जिससे कि यह खतरा भांप कर छिप सकते हैं अपने सुरक्षा की दृष्टि से यह बिच्छू के लिए काफी फायदेमंद है |

पक्षी कीड़े मकोड़े तथा दूसरे जीव अल्ट्रावायलेट किरण को नहीं देख सकते हैं|

उल्लू अल्ट्रावायलेट किरण को देख सकते हैं |