बिच्छू काटने की होम्योपैथिक दवा। बिच्छू से जुडे 17 मजेदार रोचक तथ्य। बिच्छू काटने का इलाज। Scorpion Facts !

Facts about Scorpions in Hindi . Amazing facts about Scorpion.

1 . बिच्छू दिन में भूरे या फिर ब्लैक दिखते हैं | लेकिन चांद की रोशनी मिलते ही बिच्छू चमकने लग जाते हैं | आज हम जानेंगे कि बिच्छू रात में क्यों चमकते हैं | इसके पीछे भी एक वैज्ञानिक कारण छुपा हुआ है|

2 . बिच्छू की 160 प्रजातियां साउथ अफ्रीका में पाई जाती है जो सिर्फ रात में ही बाहर निकलती है |

3 . बिच्छू अपने जीवनसाथी को मार देते हैं यानी कि यह एक दूसरे को मार देते हैं |

4 . बिच्छू की नजर बहुत ही कमजोर होती है |

5 . बिच्छू अल्ट्रावायलेट किरणों की वजह से धुंधले चमकते हुए दिखाई देते हैं |

बिच्छू से जुडे 17 मजेदार तथ्य।  बिच्छू के बारे मे जानकारी और तथ्य।

1 . शाम के समय तथा रात में बिच्छू चमकते हैं | इस समय अल्ट्रावॉयलेट रेडिएशन की किरणें बहुत तेज होती है | बिच्छू की त्वचा इस रेडिएशन किरणों को अवशोषित करती है |

2 . किसकी वजह से बिच्छू चमकता है | हम अल्ट्रावायलेट किरण को नहीं देख सकते हैं | जितनी ज्यादा अल्ट्रावायलेट किरण होगी उतना ज्यादा बिच्छू तेज चमकेगा |

3 . बिच्छू के चमकने से उसका क्या फायदा हो सकता है |

4 . इसके चमकने से इन्हें 3 फायदे होंगे |

5 . यह इनके जीवन साथी ढूंढने का अच्छा संकेत हो सकता है | जब चांद की रोशनी में यह चमकते हैं | तब यह ऐलान करते हैं कि उनका अभी तक कोई जीवनसाथी नहीं है | यानी कि वह अभी तक सिंगल है |

6 . इसका दूसरा फायदा यह है कि जब यह चमकते हैं तो दूसरे कीड़े मकोड़े इनकी तरफ आकर्षित होते हैं और वह इनका शिकार कर लेते हैं | जिससे कि इनको खाना मिल जाता है तथा इनका पेट भर जाता है |

बिच्छू के बारे में कुछ रोचक तथ्य। bichchhoo ke baare mein rochak tathy.

1 . बिच्छू अल्ट्रावायलेट किरण को देख सकते हैं जिससे कि यह खतरा भांप कर छिप सकते हैं अपने सुरक्षा की दृष्टि से यह बिच्छू के लिए काफी फायदेमंद है |

2 . पक्षी कीड़े मकोड़े तथा दूसरे जीव अल्ट्रावायलेट किरण को नहीं देख सकते हैं|

3 . उल्लू अल्ट्रावायलेट किरण को देख सकते हैं |

बिच्छू के बारे में रोचक तथ्य। बिच्छू से जुडे 17 मजेदार तथ्य। बिच्छू के बारे में रोचक तथ्य। बिच्छू के बारे में कुछ रोचक तथ्य।

बिच्छू का अर्थ । बिच्छू Meaning in Hindi – बिच्छू का मतलब हिंदी में

बिच्छू का अर्थ और मतलब होता है कि एक ऐसा जानवर जिसके शरीर के पिछले वाले हिस्से में एक विषैला डंक होता है । जिसके काटने पर तीव्र पीड़ा और जलन होती है ।

फिटकरी से बिच्छू काटने की दवा कैसे बनाएं ? बिच्छू के काटने पर फिटकरी का यह नुस्खा आजमाएं ।

बिच्छू काटने का इलाज – बिच्छू के डंक का इलाज है फिटकरी । बिच्छू के काटे हुई जगह पर फिटकरी लगाने से 2 मिनट में ही जहर उतर जाता है । बस आपको फिटकरी लगाने का तरीका पता होना चाहिए ।

जिस जगह पर बिच्छू ने काटा है , उस जगह पर आप को फिटकरी को घिस करके लगा लेना है । लगाए हुए जगह पर से 2 मिनट में बिच्छू का जहर गायब हो जाएगा ।‌ तुरंत राहत और आराम भी मिलेगा ।

फिटकरी से बिच्छू का जहर उतारने का दूसरा तरीका यह है कि आपको फिटकरी को गर्म करना है जब फिटकरी पिघलने लगे तब उसे जहां पर बिच्छू ने काटा है उस जगह के ऊपर रख देना है ।

थोड़ी देर रखने पर धीरे-धीरे फिटकरी बिच्छू के जहर को अपने अंदर खींच लेगी और फिर सुखकर के अपने आप ही उतर जाएगी ।

बिच्छू का जहर किस काम आता है ? Bichhu ka jahar kis kaam aata Hai .

बिच्छू का जहर बहुत ज्यादा ही खतरनाक होता है जहां पर भी बिच्छू ने काटा होता है वहां पर जलन पैदा करता है और बहुत ज्यादा ही खुजली आती है और जलन होती ।

बिच्छू का जहर दुनिया में सबसे महंगा लिक्विड में भी गिना जाता है । क्योंकि बिच्छू के जहर से बहुत सारी बीमारियों के लिए दवाई बनाई जाती है । बिच्छू के जहर से पाचन तंत्र संबंधी कथा गठियाबाय की दवाई बनाई जाती है ।

बिच्छू का तेल मर्दाना ताकत को बढ़ाता है ? Bichhu ke Tel ke bare mein information

कुछ लोगों का मानना है कि बीजू का तेल मर्दाना ताकत को बढ़ाता है । इसलिए मर्दाना ताकत प्राप्त करने के लिए बिच्छू के तेल का इस्तेमाल किया जाता है ।

बिच्छू से बिच्छू के तेल को प्राप्त करने के लिए बिच्छू के सिर को गर्म किया जाता है । गर्म करने पर बिच्छू का सिर तेल छोड़ने लगता है उस तेल को इकट्ठा कर लिया जाता है ।

बिच्छू काटने की होम्योपैथिक दवा का नाम क्या है ?

Bichhu ke kaatne ki homeopathic dava ka naam kya hai . अब हम आपको बिच्छू के काटने की होम्योपैथिक दवा का नाम बताएंगे । यह होम्योपैथिक दवा आपको किसी भी मेडिकल स्टोर पर बड़ी ही आसानी से मिल जाएगी ।

इस दवा को आपको बिच्छू काटने वाली जगह पर लगाना है । लगाते ही 2 मिनट में बिच्छू का जहर उतर जाएगा ।

बिच्छू के काटने की होम्योपैथिक दवा का नाम silisea 200 है । इस दवा का पता आप अपने आसपास में किसी भी मेडिकल स्टोर पर कर सकते हो और अपने घर में ऐसे रख सकते हो । ताकि जरूरत पड़ने पर इस दवा का इस्तेमाल किया जा सके ।

बिच्छू का जीवनकाल कितना होता है ? Bichhu ka jivan kal kitna hota hai .

Bichhoo ki aayu kitni hoti hai . बिच्छू के जीवन काल की अभी तक सही से गणना नहीं हुई है । लेकिन कुछ रिसर्च कर्ताओं का मानना है की बिच्छू का जीवनकाल 6 से 25 साल के बीच में होता है । यह बिच्छू की प्रजाति पर और उनकी नस्ल पर निर्भर करता है ।

बिच्छू का डंक के बारे में जानकारी ।- bichhu ke bare mein amazing tatha rochak tathya aur information .

आइए बिच्छू के डंक के बारे में थोड़ी सी रोचक जानकारी और रोचक तथ्य प्राप्त कर लेते हैं । बिच्छू का डंक बिच्छू के पीछे वाले हिस्से में होता है जो कि विष ग्रंथि से जुड़ा हुआ होता है ।

बिच्छू का डंक बिच्छू के पीठ के ऊपर मुड़ा हुआ होता है और उसके आगे वाले भाग पर एक तीखा सुई के समान नोक होती है जिसमें जहर भरा होता है । यही जब-जब बिच्छू किसी को काटता है तब उसके शरीर में छोड़ देता है ।

Bichoo ( बिच्छू ) Meaning English . बिच्छू के other नाम

बिच्छू को और किस किस नाम से जाना जाता है और बिच्छू को आप किस प्रकार से लिख सकते हैं इसके अलावा बिच्छू के अन्य नाम क्या है ।

1 . Bichoo
2 . Scorpion
3 . Nettles
4 . Bichchhu
5 . bichchhoo

बिच्छू से जुडे 17 मजेदार तथ्य। बिच्छू काटने का इलाज। Scorpion Facts !

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x