लंकिनी कौन थी Who was lankini

लंकिनी कौन थी Who was lankini

लंकिनी एक राक्षसी थी जो कि रावण की नगरी लंका की सुरक्षा करती थी । उसके पास केई मायावी तथा आसुरी शक्तियां थी । जिसके बल पर वह लंका की रक्षा करती थी । वह समुद्र , पाताल में भी विचरण कर सकती थी । उसके पास बहुत सारी अनोखी शक्तियां थी ।

जिसके कारण उसका वध करना लगभग सामान्य मनुष्य के लिए नामुमकिन था । उसे मारने के लिए बड़े-बड़े योद्धाओं की जरूरत पड़ती थी । इसी असीमित शक्तियों के कारण ही रावण ने इसे लंका की सुरक्षा के लिए रखा था ।

एक समय की बात है जब रावण ने ऋषि मुनियों के रक्त से भरा कुंभ जब मिथिला के राजा जनक की नगरी में गाड़ दिया था और जब रावण को यह ज्ञात हुआ कि यह रक्त कलश ही हमारे विनाश का कारण बन सकता है , तब रावण ने ईसी लंकिनी को उस रक्त कुंभ को नष्ट करने के लिए मिथिला नगरी भेजा था ।

अवश्य पढ़े – रावण अमर कैसे हुआ ?

जब इस बात का पता पवनपुत्र मारुति को लगा की लंकीनी उस रक्त कुंभ को नष्ट करने जा रही है , तब वह वहां पर पहुंचकर उसी कुंभ को सुरक्षित किया । जिससे सीता का जन्म होने वाला था । राम तथा सीता का विवाह तथा रामायण की रचना होने वाली थी ।

पवनपुत्र मारुति ने वहां पहुंचकर लंकानी को रोका तथा उसको वहां से भगा दिया । उसके बाद में वहां के राजा जनक ने हलचल आया और सीता की उत्पत्ति हुई ।

अवश्य पढ़े – बाली तथा सुग्रीव का जन्म कैसे हुआ ?

अवश्य पढ़े – संजीवनी बूटी की उत्पत्ति कैसे हुई थी

अवश्य पढ़े – WhatsApp helpline number

Translate »
%d bloggers like this: